उन्नाव बलात्कार मामले पर राजनीति फिर गरमा रही है. कल इस मामले की पीड़िता के एक सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल होने के बाद विपक्ष, केंद्र और उत्तर प्रदेश में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर लगातार हमलावर है. सड़क से संसद तक इस मामले की गूंज है.

आज लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने उन्नाव का मामला उठाते हुए कहा कि इस घटना ने पूरे देश को शर्मसार किया है. उनका कहना था कि पीड़िता गंभीर रूप से घायल है और उसके परिवार के कुछ सदस्यों की मौत हो गई है, ऐसे में उसे पूरी सुरक्षा दी जाए और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो. उन्होंने गृह मंत्री से सदन में आकर इस पर बयान देने की मांग भी की.

इस पर संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि विपक्ष इस मामले पर राजनीति कर रहा है. उनका कहना था कि उत्तर प्रदेश की सरकार निष्पक्ष तरीके से काम कर रही है और उसने हादसे की सीबीआई जांच का आदेश दे दिया है. उधर, केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति और भाजपा सांसद जगदंबिका पाल ने आरोप लगाया कि जिस ट्रक से हादसा हुआ वह समाजवादी पार्टी के एक नेता का है.

इसके बाद हंगामा बढ़ गया. कांग्रेस, डीएमके और सपा के सदस्य नारेबाजी करते हुए आसन के निकट पहुंच गए. उन्होंने ‘उन्नाव की बेटी को इंसाफ दो’, ‘गृह मंत्री जवाब दो’ और ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का क्या हुआ’ जैसे नारे लगाए. तृणमूल कांग्रेस, बसपा और एनसीपी के सांसदों ने इस मामले पर सदन से वाकआउट किया.

उधर, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी नेता पीड़िता का हाल-चाल जानने लखनऊ के केजीएमयू अस्पताल पहुंचे. उन्होंने कहा कि घटना ने उत्तर प्रदेश ही नहीं, देश की माताओं बहनों को हिला दिया है. अखिलेश यादव का यह भी कहना था, ‘बीजेपी के लोगों को नहीं भूलना चाहिए की इसी प्रदेश ने उन्हें पीएम (नरेंद्र मोदी) और राष्ट्रपति (रामनाथ कोविंद) दिया है.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और बसपा मुखिया मायावती ने योगी आदित्यनाथ सरकार पर मिलीभगत होने का आरोप लगाया है. एक ट्वीट में प्रियंका गांधी ने लिखा कि अब भी देर नहीं हुई है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कुलदीप सेंगर और उनके भाई को सत्ता से बाहर कर देना चाहिए.

उधर, मायावती ने एक ट्वीट में कहा कि स्थानीय भाजपा सांसद साक्षी महाराज द्वारा जेल में आरोपित भाजपा विधायक से मिलना बताता है कि आरोपितों को लगातार सत्ताधारी भाजपा का संरक्षण मिल रहा है.