पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने कहा है कि टीम का कप्तान होने के नाते विराट कोहली के पास कोच चयन प्रक्रिया पर अपनी राय देने का पूरा अधिकार है. बुधवार को गांगुली ने विराट कोहली की पिछले दिनों कोच चयन पर आयी एक टिप्पणी का जिक्र करते हुए यह बात कही.

बीते सोमवार को भारत के विश्व कप सेमीफाइनल से बाहर होने के बाद पहली बार मीडिया से मुखातिब होते हुए कोहली ने भारतीय मुख्य कोच के लिये रवि शास्त्री का समर्थन किया था. उन्होंने कहा था कि अगर शास्त्री फिर कोच चुने जाते हैं तो उन्हें ख़ुशी होगी. रवि शास्त्री का कार्यकाल इस हफ्ते शुरू हो रहे वेस्टइंडीज दौरे के साथ ही समाप्त होगा.

पीटीआई के मुताबिक बुधवार को इस मामले पर पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने कहा, ‘वह कप्तान है. उसका कोच चयन पर बोलने का पूरा अधिकार है.’

सौरव गांगुली उस क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) का हिस्सा थे जिसने 2017 में रवि शास्त्री को मुख्य कोच चुना था. उस समय इस समिति के अन्य सदस्य सचिन तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण थे. उस समय अनिल कुंबले का कोच पद से हटना और रवि शास्त्री को चुना जाना विवादों में भी रहा था.

हालांकि, इस बार सीएसी में कपिल देव, अंशुमन गायकवाड़ ओर शांता रंगास्वामी शामिल हैं, जो कोच का चयन करेंगे. कोच पद के लिए आवेदन भरने की अंतिम तिथि मंगलवार को समाप्त हो चुकी है.