‘अगर हम युवाओं को खुश रहना सिखा दें तो मुकदमों की संख्या में अपने आप कमी आ जाएगी.’

— रंजन गोगोई, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस

रंजन गोगोई ने यह बात दिल्ली सरकार के स्कूलों में लगने वाली ‘हैप्पीनेस क्लासेज’ की पहली वर्षगांठ के मौके पर आयोजित एक कार्यक्रम में कही. इस मौके पर उन्होंने ऐसी क्लासेज को एक बहुत ही ‘शानदार विचार’ भी बताया. साथ ही कहा, ‘हम ऐसा अपनी न्यायिक अकादमियों में भी कर सकते हैं.’ इसके साथ ही रंजन गोगोई का यह भी कहना था, ‘लोग इतने दुखी हैं कि बड़ी संख्या में मुकदमे लंबित हैं, जो आगे चलकर लोगों को और दुखी करते हैं.’

‘वीजी सिद्धार्थ की आत्महत्या देश के लिए एक खतरनाक संकेत है.’

— ममता बनर्जी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री

ममता बनर्जी ने यह बात कैफे कॉफी डे (सीसीडी) के संस्थापक वीजी सिद्धार्थ की आत्महत्या को निराशाजनक बताते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘भविष्य में कृषि या उद्योग क्षेत्र में ऐसा नहीं होना चाहिए.’ ममता बनर्जी के मुताबिक, ‘केंद्रीय जांच एजेंसियों द्वारा परेशान किए जाने से वीजी सिद्धार्थ दबाव में थे. इस वजह से वे अपना व्यापार भी ठीक तरह नहीं चला पा रहे थे. ऐसे में उन्होंने सब कुछ त्यागने का फैसला किया.’


‘सुरक्षा बलों की तैनाती को लेकर स्थानीय नेता कश्मीर के लोगों को डराने का काम कर रहे हैं.’

— राम माधव, भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव

राम माधव ने यह बात श्रीनगर में पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने कश्मीर में सुरक्षा बलों की तैनाती और उन्हें वहां से हटाए जाने को सतत प्रक्रिया का हिस्सा बताया. साथ ही कहा, ‘आज जम्मू-कश्मीर में भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है. इसी से बचने के लिए यहां के स्थानीय नेता यह नाटक कर रहे हैं.’ इस मौके पर उन्होंने राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती पर भी निशाना साधा. राम माधव ने कहा, ‘महबूबा मुफ्ती फिसलते जनाधार को बचाने और खुद को प्रासंगिक बनाए रखने के लिए ऐसी भाषा का इस्तेमाल कर रही हैं.’


‘सुप्रीम कोर्ट के संज्ञान के बाद उन्नाव मामले की पीड़िता को न्याय मिलने की उम्मीद जगी है.’

— मायावती, बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष

मायावती ने यह बात एक ट्वीट के जरिये कही. इसी ट्वीट से उन्होंंने उन्नाव रेप पीड़िता की हत्या के प्रयास और मुकदमों की वापसी के लिए आरोपित विधायक द्वारा उसे धमकी दिए जाने को गंभीर मामला भी बताया. इसके साथ ही मायावती ने यह भी कहा, ‘अभियुक्त विधायक (कुलदीप सिंह सेंगर) को सत्ताधारी भाजपा का लगातार संरक्षण रहा है, यह कोई लुकी-छिपी बात नहीं है. यही कारण है कि किसी न किसी बहाने रेप आदि का यह केस केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के पास होने के बावजूद काफी लंबे समय से लंबित पड़ा है.’


‘विराट कोहली को कोच के चयन पर अपनी राय देने का पूरा अधिकार है.’

— सौरव गांगुली, पूर्व क्रिकेटर

सौरव गांगुली ने यह बात पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘विराट कोहली टीम के कप्तान हैं. ऐसे में उन्हें इस पर बोलने का पूरा हक है.’ इस मौके पर उन्होंने पृथ्वी शॉ को लेकर भी प्रतिक्रिया दी. सौरव गांगुली ने कहा, ‘खांसी के​ लिए इस्तेमाल किए जाने में विभिन्न पदार्थ हो सकते हैं. मुझे नहीं पता कि पृथ्वी शॉ के मामले में क्या हुआ है.’ इससे पहले डोप टेस्ट में असफल होने पर शॉ को आठ म​हीने के लिए निलंबित कर दिया गया था. वहीं वेस्टइंडीज दौरे पर रवाना होने से पहले विराट कोहली ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में रवि शास्त्री को कोच के तौर पर पहली पसंद बताया था.