‘अर्थव्यवस्था पटरी से उतर गई है और इस अंधेरी सुरंग के छोर से रोशनी की किरण भी नहीं दिख रही.’

— राहुल गांधी, कांग्रेस के नेता

राहुल गांधी ने यह बात एक ट्वीट के जरिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कही. इसी ट्वीट से राहुल गांधी का यह भी कहना था, ‘अगर आपकी अक्षम वित्त मंत्री कह रही हैं कि आगे रोशनी है तो मेरा यकीन कीजिए मंदी की रेल पूरी ताकत से आ रही है.’

‘कांग्रेस के अध्यक्ष पद के लिए पार्टी नेता मेरा नाम न उछालें.’

— प्रियंका गांधी, कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव

प्रियंका गांधी ने यह बात पार्टी की एक बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए उनका नाम बार-बार उछाले जाने पर कही है. इससे पहले गुरुवार को ही कांग्रेस के नेता वीरप्पा मोइली ने प्रियंका गांधी में पार्टी अध्यक्ष बनने की सभी योग्यताएं होने की बात कही थी. मोइली के अलावा शशि थरूर और कैप्टन अमरिंदर सिंह जैसे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भी उन्हें इस पद के लिए पहले ही उपयुक्त बता चुके हैं.


‘हमने प्रधानमंत्री को कश्मीर के ताजा हाल से अवगत करवाया है.’

— उमर अब्दुल्ला, नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता

उमर अब्दुल्ला ने यह बात गुरुवार को नरेंद्र मोदी के साथ एक मुलाकात के बाद कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘हमने प्रधानमंत्री को बताया है कि बीते सालों के मुकाबले कश्मीर केे मौजूदा हालात बेहतर हैं. ऐसे में केंद्र को कोई ऐसा राजनीतिक या वैधानिक फैसला नहीं करना चाहिए जिससे वहां का माहौल अशांत हो.’ उमर अब्दुल्ला ने आगे कहा, ‘जम्मू-कश्मीर में डेढ़ साल साल से चुनी हुई सरकार नहीं है. इसे देखते हुए हमने उनसे वहां इसी साल विधानसभा चुनाव करवाने का आग्रह भी किया है.’


‘मैं आपका आभारी हूं कि अपने एजेंडे के लिए आप मुझे इतना बड़ा खतरा समझ रहे हैं.’

— मोहम्मद जवाद जरीफ, ईरान के विदेश मंत्री

मोहम्मद जवाद जरीफ ने यह बात उनपर अमेरिका की तरफ से लगाए गए प्रतिबंध और इसके तहत वहां सील कर ली जाने वाली उनकी संपत्तियों को लेकर कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘इस प्रतिबंध की सबसे बड़ी वजह ये है कि मैं दुनिया में ईरान का प्रमुख प्रवक्ता हूं.’ मोहम्मद जवाद जरीफ ने आगे कहा, ‘अमेरिका के इन प्रतिबंधों का मुझ पर या ​मेरे परिवार पर कोई असर नहीं पड़ेगा क्योंकि ईरान के बाहर मेरी कोई संपत्ति नहीं है.’


‘कोच के चयन पर हम कप्तान विराट कोहली की राय का सम्मान करेंगे.’

— कपिल देव, क्रिकेट सलाहकार समिति के प्रमुख

कपिल देव ने यह बात कोलकाता में एक कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘कोच पद के लिए विराट कोहली का अपना नजरिया है.’ इसके साथ ही कपिल देव का यह भी कहना था, ‘हमारी समिति अपनी सर्वश्रेष्ठ क्षमता के अनुरूप काम करेगी.’ इससे पहले वेस्टइंडीज दौरे पर रवाना होने से पहले भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में रवि शास्त्री को कोच के तौर पर पहली पसंद बताया था.