भारतीय क्रिकेट टीम के कोचिंग स्टाफ के लिए 2000 से अधिक आवेदन आए हैं. खबरों के मुताबिक मुख्य कोच पद के लिए जिन उम्मीदवारों ने आवेदन किया है उनमें पूर्व ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर टॉम मूडी और न्यूजीलैंड की अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट टीम के पूर्व कोच माइक हेसन भी शामिल हैं. साथ ही इस दौड़ में दक्षिण अफ्रीकी दिग्गज गैरी कर्स्टन और श्रीलंका के महान बल्लेबाजों में शुमार महेला जयवर्धने को भी शामिल बताया जा रहा है. इसी सूची में रॉबिन सिंह और लालचंद राजपूत जैसे भारतीय नाम भी हैं. दक्षिण अफ्रीकी दिग्गज जॉन्टी रोड्स ने भारतीय टीम के फील्डिंग कोच पद के लिए आवेदन किया है.

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआई ने मुख्य कोच, फील्डिंग कोच, बैटिंग कोच, बॉलिंग कोच, फिजियोथेरेपिस्ट, स्ट्रेंथ एंड कंडीशनिंग कोच के अलावा एडमिनिस्ट्रेटिव मैनेजर के पद के लिए आवेदन मंगवाए थे. आवेदन करने की अंतिम तारीख मंगलवार, 30 जुलाई थी. मुख्य कोच रवि शास्त्री सहित टीम के मौजूदा कोचिंग स्टाफ को पूरी प्रक्रिया में ऑटोमेटिक एंट्री मिल गई है. विश्व कप के बाद फिलहाल यह स्टाफ 45 दिन के एक्सटेंशन पर है.

बीसीसीआई ने कपिल देव की अध्यक्षता वाली क्रिकेट अडवाइजरी समिति को ही मुख्य कोच चुनने का अधिकार दिया है. कपिल देव कह चुके हैं कि कोच चुनने में कप्तान विराट कोहली की राय अहम होगी. उधर, समिति के एक दूसरे सदस्य अंशुमान गायकवाड़ का कहना है कि कोच के चयन में किसी की राय नहीं ली जाएगी और समिति अपना काम निष्पक्ष तरीके से करेगी.