अगस्ता वेस्टलैंड मनी लॉन्डरिंग के मामले में दिल्ली की ए​क विशेष अदालत ने कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी की अंतरिम जमानत पर फैसला सुरक्षित रख लिया है. अब इस मामले में यह कोर्ट आगामी छह अगस्त को अपना फैसला सुनाएगा.खबरों के मुताबिक अंतरिम जमानत के मामले पर जब यह विशेष अदालत आज सुनवाई कर रही थी तो उस दौरान महीपाल सिंह नाम के एक गवाह ने व्यवधान भी पैदा किया. तब उसने बयान देने के लिए खुद पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा दबाव बनाए जाने की बात कही थी. वहीं उसके वकील ने कहा, ‘ईडी ने महीपाल सिंह के कपड़े उतारकर उसका बयान लिया है.’ महीपाल सिंह रतुल पुरी की कंपनी (मोजर बीयर) का पूर्व कर्मचारी है. उधर, उसकी तरफ से कही बातों को लेकर अदालत ने ईडी को इसी शनिवार को अपना जवाब दाखिल करने के लिए भी कहा है.

रतुल पुरी की जमानत को लेकर बीते बुधवार से सुनवाई शुरू हुई थी. तब ईडी के वकील डीपी सिंह ने पुरी को एक प्रभावशाली व्यक्ति बताया था. साथ ही उसे जमानत मिलने पर उसके देश छोड़कर भाग जाने की आशंका भी जताई थी. इस मामले पर अदालत ने गुरुवार को भी सुनवाई की थी लेकिन तब सुनवाई पूरी न होने के बाद इसे आज तक के लिए टाल दिया गया था.

इससे पहले अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर सौदे के मामले में पूछताछ के लिए ईडी ने रतुल पुरी को बीते हफ्ते शुक्रवार को भी अपने कार्यालय बुलाया था. लेकिन तब वे वहां से फरार हो गए थे. इसके बाद मामले में अपनी गिरफ्तारी की संभावना जताते हुए उन्होंने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था और कोर्ट ने उन्हें राहत देते हुए बीते सोमवार तक के लिए उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा दी थी. फिर यह रोक बुधवार तक के लिए आगे बढ़ा दी गई थी.