छत्तीसगढ़ में आज सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में सात माओवादी मारे गए. यह मुठभेड़ राज्य के राजनांदगांव जिले में हुई. मरने वाले नक्सलियों में चार महिलाएं हैं. पीटीआई के मुताबिक पुलिस उप महानिरीक्षक (नक्सल विरोधी अभियान) सुंदरराज पी ने बताया कि मुठभेड़ आज सुबह करीब छह बजे सीतागोटा नाम के गांव से सटे जंगल में उस समय हुई जब जिला रिजर्व गार्ड (डीआरजी) की टीम नक्सलरोधी अभियान के लिए जा रही थी. उन्होंने बताया, ‘अब तक सात शव बरामद किए गए हैं. घटना स्थल से एक एके 47 राइफल सहित भारी संख्या में हथियार मिले हैं. तलाशी अभियान जारी है.’

इससे पहले 29 जुलाई को भी छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ में एक महिला नक्सली समेत दो नक्सलियों को मार गिराया था. इससे एक ही दिन पहले सुकमा में ही एक महिला सहित 14 नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया था.

पिछले महीने में सरकार ने संसद में बताया था कि 2009-2013 की तुलना में 2014-18 के दौरान नक्सली हिंसा में 43 फीसदी की कमी आई है. राज्यसभा में गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने एक सवाल के लिखित जवाब में बताया था कि राष्ट्रीय नीति एवं कार्य योजना 2015 के अमल में लाए जाने की वजह से नक्सली हिंसा में लगातार कमी आई है. उनके मुताबिक साल 2018 में नक्सली हिंसा से प्रभावित जिलों की संख्या घटकर केवल 60 रह गई है.