भारत मौसम विभाग (आईएमडी) ने मुंबई और इसके आसपास के इलाकों में भारी बारिश के चलते रविवार तक के लिए रेड अलर्ट जारी किया है. यह अलर्ट 48 घंटे के दौरान यहां तेज हवाओं के साथ होने वाली मूसलाधार बारिश के पूर्वानुमान के मद्देनजर जारी किया गया है. इसके साथ ही मौसम विभाग ने मुंबई के तटीय इलाकों में ऊंची लहरें (ज्वार) उठने की आशंका भी जताई है. ऐसे में लोगों को यहां से दूर रहने के लिए भी कहा गया है. इससे पहले आईएमडी ने शनिवार की दोपहर के लिए भी ऐसी ही चेतावनी जारी की थी. तब मुंबई के तटीय इलाकों में करीब पांच मीटर ऊंची लहरें उठती हुई देखी गई थीं.

इधर, शुक्रवार से शुरू हुई भारी बारिश ने शनिवार को भी मुंबई का जन-जीवन व्यापक तौर पर प्रभावित किया. लोकल ट्रेनें अपने निर्धारित समय से देरी से चलीं. वहीं इसकी वजह से मोनोरेल का परिचालन भी बाधित हुआ. शनिवार की सुबह से ही मुंबई के अलग-अलग इलाकों की सड़कों पर जलभराव भी देखा गया. इससे दहीसर, मलाड और अंधेरी जैसे इलाकों में यातायात बेहद प्रभावित हुआ जबकि वहीं पालघर में बारिश का पानी इकट्ठा हो जाने से कई मकान भी पानी में डूब गए. भारी बारिश को देखते हुए स्कूलों में शनिवार को पहले ही छुट्टी की घोषणा कर दी गई थी.

शनिवार की सुबह 8.30 से 11.30 बजे के दौरान आईएमडी की कोलाबा ऑब्जर्वेटरी में 11.2 मिलीमीटर तो सांताक्रूज में 59.2 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई. इससे पहले मुंबई में बीते महीने 1,464 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई जो कि 2014 में हुई रिकॉर्ड बारिश से सिर्फ 3.7 मिलीमीटर कम है. उस साल वहां 1,468.5 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई थी.

इस दौरान नवी मुंबई के पांडवकडा झरने में चार छात्राओं के डूब जाने की दुखद खबर भी आई है. जानकारी के मुताबिक ये छात्राएं वहां पिकनिक मनाने के लिए गई थीं. लेकिन उसी दौरान तेजी से आए पानी में ये चारों छात्राएं बह गईं. बचाव दल ने फिलहाल इनमें से एक छात्रा का शव बरामद कर लिया है.