भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की वरिष्ठ नेता और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज बुधवार को पंचतत्व में विलीन हो गईं. दिल्ली के लोदी रोड स्थित शवदाह गृह में राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया. अंतिम संस्कार संबंधी सभी रस्में उनकी बेटी बांसुरी स्वराज ने पूरी कीं. इस मौके पर उपराष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, पार्टी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सहित कई अन्य चर्चित हस्तियां मौजूद रहीं.

इससे पहले दिल्ली के ही जनपथ स्थित उनके निवास पर अंतिम दर्शनों के लिए उनका पार्थिव शरीर रखा गया. इस दौरान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अलावा कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस के नेता राहुल गांधी, बसपा प्रमुख मायावती सपा के नेता राम गोपाल यादव सहित दूसरे नेताओं ने वहां जाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी. सुषमा स्वराज की अंतिम यात्रा से पहले उनका शव भाजपा मुख्यालय ले जाया गया जहां पार्टी कार्यकर्ताओं और कई अन्य लोगों ने उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किए.

मंगलवार की देर शाम दिल का दौरा पड़ने के बाद सुषमा स्वराज को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ले जाया गया था जहां उन्होंने अंतिम सांस ली. 1970 के दशक में राजनीति में प्रवेश करने वाली सुषमा स्वराज नौ बार सांसद रहीं. लेकिन स्वास्थ्य कारणों का हवाला देते हुए उन्होंने लोकसभा का पिछला चुनाव नहीं लड़ा था.