अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर सौदे के एक मामले में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे और कारोबारी रतुल पुरी के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर दिया गया है. शुक्रवार को यह वारंट दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने जारी किया. इससे पहले इसी गुरुवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने राउज एवेन्यू कोर्ट के विशेष जज अरविंद कुमार की अदालत के सामने रतुल पुरी के विदेश भागने की आशंका जताई थी. साथ ही यह भी कहा था कि उन्हें गिरफ्तार नहीं किया जाता तो अपने प्रभाव के बल पर वे इस मामले से जुड़े साक्ष्यों और जांच को प्रभावित कर सकते हैं. इन्हीं दलीलों के आधार पर ईडी ने अदालत से उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी करने की मांग की थी.

इससे पहले अगस्ता वेस्टलैंड सौदे में मनी लॉन्डरिंग के मामले में पूछताछ करने के लिए ईडी ने बीते महीने भी रतुल पुरी को तलब किया था. तब 26 जुलाई को वे ईडी कार्यालय में पूछताछ के लिए पहुंचा था. लेकिन उसी दौरान शौचालय जाने के बहाने नजरें बचाते हुए वे वहां से फरार हो गए थे. इसके बाद उऩ्होंने अपनी गिरफ्तारी की आशंका जताते हुए दिल्ली की ही एक अदालत में अंतरिम जमानत की गुहार लगाई थी. तब कोर्ट ने उन्हें राहत देते हुए 29 जुलाई तक के लिए उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा दी थी और बाद में अंतरिम जमानत को और दो दिन के लिए आगे बढ़ा दिया गया था. हालांकि बीते मंगलवार को दिल्ली की ही एक अदालत ने पुरी की अग्रिम जमानत याचिका खारिज भी कर दी थी.