अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को खत्म करने संबंधी केंद्र के फैसले के बाद से ही राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की जम्मू-कश्मीर सक्रियता काफी चर्चा में है. कहा जा रहा है कि उन्होंने इस हफ्ते ज्यादातर समय वहीं बिताया है और इस बीच शनिवार को माहौल का जायजा लेने के लिए वे जम्मू-कश्मीर के तीसरे सबसे बड़े शहर अनंतनाग की सड़कों पर दिखाई दिए. यहां ईद के मौके पर भेड़ें बेचने के लिए आए एक चरवाहे से उन्होंने बातचीत भी की. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक इसके साथ ही वे यहां दूसरे स्थानीय लोगों से भी बातचीत करते दिखे हैं.

इससे पहले इसी हफ्ते अजीत डोभाल दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले की सड़कों पर भी दिखाई दिए थे. उस मौके पर भी उन्होंने स्थानीय लोगों से बातचीत करते हुए जल्दी ही वहां के हालात सामान्य हो जाने का भरोसा दिलाया था. इसके अलावा अजीत डोभाल ने उन लोगों के साथ खाना भी खाया था.

इस बीच जम्मू-कश्मीर के हालात और ईद की तैयारियों को लेकर वहां के राज्यपाल सत्यपाल मलिक का बयान भी आया है. उन्होंने कहा है, ‘हम ईद की तैयारियां कर रहे हैं. साथ ही यह भी सुनिश्चित कर रहे हैं कि इस मौके पर लोगों को अधिकतम सुविधाएं मिल सकें.’ इसके साथ ही सत्यपाल मलिक ने लोगों को बिना किसी डर के शांतिपूर्ण तरीके से ईद मनाने का संदेश भी दिया है.

इससे पहले इसी शुक्रवार को कश्मीर के हालात का जायजा लेने के लिए सत्यपाल मलिक खुद भी राजभवन से बाहर निकले थे. साथ ही श्रीनगर के रावलपोरा, जवाहर नगर, राजबाग जैसे इलाकों में पहुंचकर उन्होंने बुनियादी सुविधाओं का हाल जाना था. इसके अलावा उन्होंने कुछ अस्पतालों का दौरा भी किया था. उसी दौरान मलिक ने एक बच्चे को बेहतर चिकित्सा सुविधा मुहैया करवाने के लिए उसे हवाई मार्ग से दिल्ली भेजने के आदेश भी दिए थे.