लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला के मुताबिक सरकार और संबंधित पक्षों के बीच संसद के एक नए भवन के निर्माण पर विचार किया जा रहा है. ओम बिड़ला ने नई दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह जानकारी दी है और कहा है कि इस समय संसद के एक नए भवन की जरूरत महसूस की जा रही है.

लोकसभा अध्यक्ष ने यह भी बताया है कि इस मामले पर फैसला करने के लिए कई समूह बनाए गए हैं और वे सांसदों समेत दूसरे पक्षों से भी सलाह-मशविरा कर रहे हैं.

पीटीआई के मुताबिक संसद के बीते सत्र के दौरान बिड़ला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी आग्रह किया था कि उनके ‘न्यू इंडिया’ के लक्ष्य में संसद भवन के विस्तार और उसके आधुनिकीकरण को भी शामिल किया जाए. तब उन्होंने यह भी कहा था कि सभी सांसद चाहते हैं कि दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र की संसद सबसे भव्य और आकर्षक होनी चाहिए.

इस बीच सात अगस्त को खत्म हुए बजट सत्र के बारे में ओम बिड़ला ने कहा है, ‘पूरे सत्र में लोकसभा की कार्रवाई एक भी दिन के लिए स्थगित नहीं हुई और इसके चलते सदन की बैठकें तय समय से 72 घंटे ज्यादा चलीं. यह समयावधि 12 बैठकों के बराबर है.’ लोकसभा अध्यक्ष ने इसके साथ ही सभी सांसदों का आभार जताया और कहा कि वे तमाम राजनीतिक दलों को साथ लेकर चलेंगे और सुनिश्चित करेंगे कि उनके कार्यकाल में लोकसभा की कार्रवाई इसी तरह बिना किसी बाधा के चलती रहे.

बिड़ला ने जानकारी दी है कि राज्य विधानसभाओं की कार्यक्षमता बढ़ाने के लिए वे जल्दी ही इनके अध्यक्षों की एक बैठक भी आयोजित करने वाले हैं. इस दौरान उन्होंने यह भी बताया है कि सदन में पेश किए जाने वाले विधेयकों के विभिन्न पहलुओं के बारे में सदस्यों को जानकारी प्रदान करने के लिए अब विशेषज्ञों का सहयोग लिया जाएगा.