बीते कुछ महीनों से भीषण जल संकट का सामना कर रहे तमिलनाडु के चेन्नई के लिए आंध्र प्रदेश ने मदद का हाथ बढ़ाया है. खबरों के मुताबिक आंध्र प्रदेश ने चेन्नई को आठ हजार मिलियन क्यूबिक (टीएमसी) फुट पेयजल की आपूर्ति करने के प्रति रजामंदी जाहिर की है. इस बारे में शनिवार को तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई पलानिस्वामी ने कहा, ‘आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने हमारी मांग स्वीकार कर ली है. वहां से आपूर्ति होने के बाद अब चेन्नई में पानी की कमी नहीं रहेगी.’

इससे पहले तमिलनाडु के मं​त्री एसपी वेलुमणि और डी जयकुमार ने जगन मोहन रेड्डी से मुलाकात की थी. उसी दौरान उन्होंने उन्हें ई पलानिस्वामी की तरफ से पानी की आपूर्ति कराने संबंधी एक चिट्ठी भी सौंपी थी. उसी के मद्देनजर जगन मोहन रेड्डी ने इसी शुक्रवार को संबंधित अधिकारियों को तमिलनाडु के लिए फौरन पानी छोड़ने के निर्देश जारी किए थे. तमिलनाडु के लिए आंध्र प्रदेश की तरफ से पानी की यह आपूर्ति कृष्णा नदी से की जाएगी. साथ ही इसे तेलुगू गंगा नहर के जरिये वहां तक पहुंचाया जाएगा.

उधर, बीते साल मामूली बारिश होने की वजह से चेन्नई सहित तमिलनाडु के कई दूसरे इलाके सूखे की चपेट में हैं. पानी की कमी की वजह से ही बीते दिनों चेन्नई की कई होटलों ने दोपहर का खाना परोसना बंद कर दिया था. इसी वजह से विभिन्न कंपनियों ने दफ्तरों में काम का समय घटा दिया था या फिर कर्मचारियों को घर से ही काम करने के निर्देश जारी कर दिए थे. उस दौरान ई पलानिस्वामी ने राज्य के लोगों को इस जल संकट से नवंबर-दिसंबर के बाद ही छुटकारा​ मिल पाने की बात भी कही थी.