‘जम्मू-कश्मीर पर भारत सरकार के फैसलों का मामला हम चीन की मदद से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में उठाएंगे.’

— शाह महमूद कुरैशी, पाकिस्तान के विदेश मंत्री

शाह महमूद कुरैशी ने यह बात एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘कश्मीर के मसले पर हमने चीन की मदद मांगी है और वहां से हमें पूरी मदद का आश्वासन मिला है.’ इसके साथ ही शाह महमूद कुरैशी ने यह भी कहा, ‘इंडोनेशिया और पोलैंड सुरक्षा परिषद के 15 गैर स्थायी सदस्यों में शामिल हैं और हमने इनसे भी इस मसले पर समर्थन हासिल करने के लिए संपर्क करने का विचार किया है.’

‘संसद के नए भवन के निर्माण पर विचार किया जा रहा है.’

— ओम बिड़ला, लोकसभा अध्यक्ष

ओम बिड़ला ने यह बात एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘इस मामले पर फैसला करने के लिए कई समूह बनाए गए हैं. वे सांसदों सहित दूसरे पक्षों से भी इसे लेकर सलाह-मशविरा कर रहे हैं.’ इसके साथ ही उनका यह भी कहना था, ‘सभी सांसद चाहते हैं कि दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र की संसद सबसे भव्य और आकर्षक हो.’


‘बेटियां हमारा गौरव हैं और पूरे देश की बेटियां हमारी भी बेटियां हैं.’

— मनोहर लाल खट्टर, हरियाणा के मुख्यमंत्री

मनोहर लाल खट्टर ने यह बयान अपने ही एक बयान पर सफाई देते हुए दिया. उन्होंने कहा, ‘मेरी बात का गलत मतलब निकाला गया है. सभी की बेटियां एक समान होती हैं.’ इससे पहले शनिवार को ही मनोहर लाल खट्टर ने कहा था, ‘हमारे मंत्री ओपी धनखड़ अक्सर कहते हैं कि वे बिहार से बहू लाएंगे. पर इन दिनों लोग कह रहे हैं कि अब कश्मीर का रास्ता साफ हो गया है. अब हम लोग कश्मीर से बहू लाएंगे.’


‘महिला कोई संपत्ति नहीं है कि पुरुषों का उन पर स्वामित्व होगा.’

— राहुल गांधी, कांग्रेस के नेता

राहुल गांधी ने यह बात एक ट्वीट के जरिये मनोहर लाल खट्टर के बयान की निंदा करते हुए कही. इसी ट्वीट से उन्होंने यह भी कहा, ‘यह दिखाता है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) का वर्षों का प्रशिक्षण एक कमजोर, असुरक्षित और दयनीय व्यक्ति की सोच को कैसा बना देता है.’


‘सीडब्ल्यूसी के सभी सदस्यों ने एकमत से राहुल गांधी को पार्टी के अध्यक्ष पद पर बने रहने का आग्रह किया है.’

— रणदीप सिंह सुरजेवाला, कांग्रेस के प्रवक्ता

रणदीप सिंह सुरजेवाला ने यह बात कांग्रेस वर्किंग कमेटी (सीडब्ल्यूसी) की शनिवार की सुबह हुई बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही थी. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘सदस्यों ने राहुल गांधी से अनुरोध करते हुए कहा कि मौजूदा सरकार संवैधानिक प्रावधानों, नागरिकों के अधिकारों और संस्थानों पर आक्रमण कर रही है. ऐसे में कांग्रेस नेतृत्व के साथ विपक्ष को मजबूती देने के लिहाज से वे उपयुक्त व्यक्ति हैं.’ इसके साथ ही रणदीप सिंह सुरजेवाला का यह भी कहना था, ‘इसके बाद भी लेकिन राहुल गांधी ने अपना इस्तीफा वापस लेने से इनकार कर दिया.’