इतिहास के पन्नों में 13 अगस्त का दिन देश के विमानन उद्योग के लिए एक मील के पत्थर के तौर पर दर्ज है. साल 1951 में आज ही के दिन भारत में बने पहले विमान ‘हिंदुस्तान ट्रेनर 2’ ने पहली उड़ान भरी थी. यह दो सीटों वाला विमान था जिसका उत्पादन भारतीय वायु सेना और नौ सेना के लिए 1953 में शुरू हुआ. उस समय देश को आजादी मिले ज्यादा समय नहीं हुआ था. ऐसे में हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स द्वारा यह पहला विमान डिजाइन करना अपने आप में बड़ी उपलब्धि थी. इस विमान का इस्तेमाल सैन्य उद्देश्यों के अलावा भारतीय विमानन स्कूलों द्वारा भी किया गया.

देश-दुनिया के इतिहास में 13 अगस्त की तारीख पर दर्ज अन्य महत्वपूर्ण घटनाओं का सिलसिलेवार ब्यौरा इस प्रकार है:

1598 : फ्रंसस के शासक हेनरी चतुर्थ ने नांत का प्रख्यात आदेश जारी किया. इस आदेश के आधार पर प्रोटेस्टेन्ट ईसाइयों को पूर्ण धार्मिक स्वतंत्रता दी गई.

1642 : डच खगोलशास्त्री क्रिश्चियन ह्यूगेंस ने मंगल के दक्षिणी ध्रुव की चोटी का पता लगाया.

1645 : स्वीडन और डेनमार्क ने शांति समझौते पर हस्ताक्षर किए.

1784 : भारत में प्रशासनिक सुधारों के लिए पिट्स इंडिया विधेयक ब्रिटिश संसद में पेश.

1814 : दासों के व्यापार को समाप्त करने के लिए ब्रिटेन और हॉलैंड के बीच समझौता.

1892 : अमेरिकी समाचार पत्र ‘एफ्रो अमेरिकन’ का बाल्टीमोर से प्रकाशन शुरू.

1898 : जॉर्ज डेवी के नेतृत्व में अमेरिकी सेना ने फिलिपींस की राजधानी मनीला पर कब्जा किया.

1902 : इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को एक विकेट से हराकर ओवल की प्रसिद्ध जीत दर्ज की.

1913 : इंग्लैंड के हैरी ब्रेअर्ली शेफील्ड ने स्टेनलेस स्टील का आविष्कार किया.

1956 : लोकसभा में राष्ट्रीय राजमार्ग विधेयक पारित.

1960 : अफ्रीका फ्रांस के कब्जे से स्वतंत्र हुआ.

1993 : वॉशिंगटन में इजरायल और फिलिस्तीन के बीच शांति समझौता.

1993 : थाइलैंड के नाखोन रचासिमा में होटल ढह जाने से 114 लोगों की मौत.

1994 : अमेरिका और उत्तरी कोरिया के बीच जेनेवा में परमाणु निरस्त्रीकरण के संबंध में ऐतिहासिक सहमति.

1999 : लेखिका तसलीमा नसरीन की नई पुस्तक ‘आमार मऐबेला’ (मेरा बचपन) पर बांग्लादेश सरकार ने प्रतिबंध लगाया.

2008 : विश्व की प्रमुख इस्पात कंपनी टाटा स्टील ने वियतनाम में संयुक्त रूप से इस्पात परिसर के निर्माण के लिए वहां की दो प्रमुख कंपनियों के साथ समझौता किया.

2008 : भारत ने मल्टी-बैरल रॉकेट लॉन्चर (एमबीआरएल) हथियार प्रणाली ‘पिनाक’ का सफल परीक्षण किया.