कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक का न्योता स्वीकार कर लिया है. आज एक ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘प्रिय राज्यपाल मलिक, विपक्षी नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ मैं जम्मू-कश्मीर और लद्दाख आने के आपके निमंत्रण को स्वीकार करता हूं. हम लोगों को कोई विमान नहीं चाहिए. बस इतनी आजादी दे दीजिएगा कि हम लोगों, मुख्यधारा के नेताओं और अपने सैनिकों से मिल सकें.’

बीते शनिवार को राहुल गांधी ने कहा था कि उन्हें कश्मीर में बेहद खराब हालात की खबरें मिल रही हैं. इसके बाद राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने उन पर निशाना साधा था. उन्होंने कहा था कि जम्मू-कश्मीर के हालात पर राहुल गांधी झूठ बोल रहे हैं. राज्यपाल का यह भी कहना था कि वे कांग्रेस नेता के लिए एक विमान भेज देंगे ताकि वे आएं और खुद हालात देख लें. सत्यपाल मलिक का कहना था कि अनुच्छेद 370 और 35ए को सभी के लिए हटाया गया है और इसमें कोई सांप्रदायिक रंग नहीं है.

इस बीच सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर में जारी तमाम पाबंदियों को हटाने का निर्देश देने से इनकार कर दिया है. शीर्ष अदालत ने कहा कि फिलहाल सूबे में हालात नाजुक हैं और वे सामान्य हो जाएं, इसके लिए केंद्र सरकार को समय देना होगा.