जम्मू-कश्मीर से धारा 370 के अधिकतर प्रावधानों को हटाने को लेकर बयान देने वाले नेताओं में अब कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव ने प्रियंका गांधी का नाम भी जुड़ गया है. उन्होंने कहा है, ‘जिस तरह जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाई गई वो पूरी तरह असंवैधानिक है.’ इसके साथ ही इसे लोकतांत्रिक सिद्धांतों के विरुद्ध बताते हुए उन्होंने यह भी कहा, ‘ऐसा कुछ भी करने के लिए नियम बने हैं लेकिन इस मामले में उन नियमों का पालन नहीं किया गया.’

खबरों के मुताबिक मंगलवार को प्रियंका गांधी ने ये बातें उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए कहीं. कांग्रेस महासचिव बीते महीने हुए हत्याकांड के पीड़ित परिवारों से मुलाकात करने के लिए सोनभद्र के उम्भा गांव पहुंची थीं.

बीते हफ्ते केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर से धारा 370 के ज्यादातर प्रावधानों को खत्म करते हुए और इस राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने का विधेयक संसद में रखा था. फिर सोमवार को राज्यसभा और उसके अगले दिन लोकसभा ने भी उस विधेयक को पारित कर दिया था. तब प्रियंका गांधी के भाई और कांग्रेस के नेता राहुल गांधी ने भी सरकार के उस फैसले को ‘असंवैधानिक’ बताया था. हालांकि इस दौरान सरकार के इस फैसले को लेकर कांग्रेस दो हिस्सों में बंटी हुई भी दिखाई दी है. भुबनेश्वर ​कलिता (अब भाजपा में शामिल हो चुके हैं), ज्योतिरादित्य सिंधिया और कर्ण सिंह जैसे कांग्रेस नेता धारा 370 को हटाने का समर्थन कर चुके हैं.