प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर को लेकर केंद्र के फैसले का विरोध करने वालों पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी किए जाने का विरोध करने वाले कुछ लोगों का दिल सिर्फ माओवादियों और आतंकवादियों के लिए धड़कता है, जो आम जनता में दहशत कायम करते हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कहना था, ‘इस फैसले का विरोध कुछ निहित स्वार्थों वाले समूह, कुछ सियासी परिवार, आतंकवाद से सहानुभूति रखने वाले और विपक्ष के कुछ मित्र कर रहे हैं, जबकि राजनीतिक झुकाव को परे रखकर जनता ने इसका समर्थन किया है.’ उन्होंने आगे कहा, ‘आज हर भारतीय जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों के साथ खड़ा हुआ है और हमें यकीन है कि राज्य में अमन और विकास के लक्ष्य को पाने में हमें उनका सहयोग मिलेगा. राज्य में पंचायत चुनाव भी सफल रहे हैं.’

प्रधानमंत्री ने बातें अपने दूसरे कार्यकाल के 75 दिन पूरे होने पर न्यूज एजेंसी एएनआई को दिए एक साक्षात्कार में कहीं. उनका कहना था कि अनुच्छेद 370 समेत जम्मू-कश्मीर पर लिया गया फैसला राजनीति नहीं बल्कि राष्ट्रहित का विषय है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दावा किया कि उनकी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल के पहले 75 दिनों में स्पष्ट नीति और सही दिशा से एक अभूतपूर्व रफ्तार हासिल की है. उन्होंने कहा कि इस दौरान तीन तलाक सहित तमाम महत्वपूर्ण कानून पारित हुए हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कहना था, ‘17वीं लोकसभा के प्रथम सत्र ने रिकॉर्ड बनाया है. यह 1952 से लेकर अब तक का सबसे फलदायी सत्र रहा है. यह कोई छोटी उपलब्धि नहीं है, बल्कि बेहतरी का एक ऐतिहासिक मोड़ है, जिसने संसद को जनता की जरूरतों के प्रति अधिक जवाबदेह बनाया है.’