प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज स्वतंत्रता दिवस के मौके पर दिल्ली के लाल किले से देश को संबोधित कर रहे हैं. यह स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर बतौर प्रधानमंत्री उनके दूसरे कार्यकाल का पहला भाषण है. इसकी शुरुआत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को शुभकामनाएं देते हुए बाढ़ पीड़ित राज्यों के लिए संवेदना व्यक्त की. भाषण में प्रधानमंत्री मोदी ने धारा 370, 35ए, तीन तलाक और ‘एक देश एक चुनाव’ जैसे कई अहम मुद्दों पर बात की. जम्मू-कश्मीर पर लिए गए फैसले के बारे में उन्होंने कहा कि बीते 70 सालों में विभिन्न सरकारों ने कश्मीर मामले से निपटने की कोशिश की पर कोई नतीजा नहीं निकला, इसलिए नए तरीके की जरूरत थी. नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘हम अलग तरीके से सोचते हैं और हमारे लिए भारत पहले है. राजनीति आती-जाती है, लेकिन देश हित में कदम महत्वपूर्ण हैं.’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने धारा 370 को लेकर किए अपनी सरकार के फैसले का विरोध करने वालों पर भी हमला किया. उन्होंने कहा, ‘जो लोग अनुच्छेद 370 की वकालत कर रहे हैं उनसे देश पूछ रहा है कि अगर यह इतना महत्वपूर्ण था तो इसे आप लोगों ने स्थायी क्यों नहीं किया, अस्थायी क्यों बनाए रखा... जम्मू कश्मीर में पुरानी व्यवस्था से भ्रष्टाचार, भाई-भतीजावाद को बढ़ावा मिल रहा था. महिलाओं, बच्चों, दलित समुदाय के साथ अन्याय हो रहा था.’ इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री ने आगे कहा, ‘हम समस्याओं को न तो पालते हैं और न ही टालते हैं.’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण की अन्य बड़ी बातें

- मुस्लिम महिलाओं को न्याय दिलाने के लिए तीन तलाक के खिलाफ कानून बनाया गया.

- आतंकवाद के खिलाफ मजबूती से लड़ाई लड़ने के लिए आतंकवाद विरोधी कानून में संशोधन किया गया.

- किसान भाइयों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत 90,000 करोड़ रुपये हस्तांतरित किए गए. किसानों के लिए पेंशन योजना शुरू की गई.

- भारत जल संरक्षण के महत्व को समझता है और इसीलिए नया मंत्रालय ‘जल शक्ति’ बनाया गया. स्वास्थ्य संबंधी क्षेत्र को लोगों के अनुकूल और बेहतर बनाने के लिए कदम उठाए गए हैं.

- हर घर में पीने का पानी उपलब्ध कराने के उद्देश्य से हम जल-जीवन मिशन के लिए आगे बढ़ेंगे. केंद्र और राज्य साथ मिलकर काम करेंगे.

- भारत के उज्ज्वल भविष्य के लिए हमें गरीबी से मुक्त होना ही है और पिछले 5 वर्षों में गरीबी कम करने की दिशा में बहुत सफल प्रयास हुए हैं.

- आबादी समृद्ध हो, शिक्षित हो तो देश को आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता.

- अब चर्चा एक देश एक चुनाव को लेकर है, यह देश को महान बनाने के लिए अनिवार्य है.

- भ्रष्टाचार और कालाधन समाप्त करने के लिए उठाए गए हर कदम स्वागत योग्य हैं. इन समस्याओं के कारण देश को पिछले 70 साल में काफी नुकसान हुआ. हम हमेशा ईमानदारी को पुरस्कृत करेंगे.

- देश में बुनियादी ढांचे को उन्नत बनाने के लिए 100 लाख करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे.

- लोगों की सोच बदली है. पहले लोग अपने क्षेत्र में केवल एक रेलवे स्टेशन बनने से खुश होते थे. अब लोग पूछते हैं कि वंदे भारत (तीव्र गति वाली रेल) हमारे इलाके में कब आएगी. लोग केवल बेहतर रेलवे स्टेशन ही नहीं चाहते, बल्कि पूछते हैं कि हवाई अड्डा कब बनेगा.

- आने वाले पांच साल में हमारी अर्थव्यवस्था 5,000 अरब डॉलर की होगी और यह सपना हम सबका होना चाहिए.

- हम उत्पादन बढ़ाने, निवेश को प्रोत्साहित करने के लिये सभी बाधाएं दूर करेंगे : मोदी ।

- तीनों सेनाओं के बीच बेहतर तालमेल और उन्हें प्रभावी नेतृत्व मुहैया कराने के लिए ‘चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ’ (सीडीएस) बनाया जाएगा. इससे सेना और अधिक प्रभावी होगी.

- उज्ज्वल भविष्य के लिए स्थानीय उत्पादों का उपयोग करें.

- डिजिटल पेमेंट को ‘हां’, नकद को ‘ना’ कहें.

- लोग छुट्टियां मनाने विदेश जाते हैं. लेकिन क्या हम आजादी की 75वीं वर्षगांठ 2022 से पहले देश के कम-से-कम 15 पर्यटन स्थलों को देखने जा सकते हैं.

- हमें दो करोड़ घर बनाने हैं, हर गांव में ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी, 15 करोड़ घरों में पीने का पानी पहुंचाना है.