राष्ट्रीय स्वयंसेवक प्रमुख (आरएसएस) मोहन भागवत ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को समाज के सहयोग के चलते ही निष्प्रभावी किया जा सका. पीटीआई के मुताबिक उन्होंने यह बात महाराष्ट्र के नागपुर में संघ मुख्यालय में स्वतंत्रता दिवस समारोह के आयोजन के दौरान कही. मोहन भागवत ने कहा, ‘अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान इसलिए हटाए जा सके क्योंकि पूरे समाज ने दृढ़ता दिखाई.’ उनका आगे कहना था, ‘आज का दिन देश की आजादी के लिए दिए गए बलिदानों को याद करने का और इसके लिए अपना संकल्प फिर से दोहराने का है.’

इससे पहले आरएसएस के सर कार्यवाह भैय्या जी जोशी ने 73वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर यहां के महल इलाके में स्थित संघ मुख्यालय में राष्ट्रीय ध्वज फहराया. इसके बाद उन्होंने संवादताताओं से कहा, ‘राष्ट्र के महान लोगों के सपने सच करने की दिशा में देश अग्रसर हो रहा है. आम आदमी की उम्मीदें पूरी होंगी और भारत दुनिया में नयी ऊंचाइयों को स्पर्श करेगा.’

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाना भाजपा के साथ-साथ संघ के भी प्रमुख एजेंडों में शामिल रहा है. बीते हफ्ते जब सरकार ने इस फैसले की जानकारी दी तो मोहन भागवत ने इसे साहसिक कदम बताया था. साथ ही उन्होंने सबसे इसका समर्थन करने की अपील की थी.