प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को 73वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर दिल्ली स्थित लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित किया. इस मौके पर उन्होंने एक अहम ऐलान करते हुए चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ का पद सृजित कहे जाने की बात कही. इस खबर को आज के अधिकतर अखबारों पहले पन्ने पर जगह दी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में अनुच्छेद- 370, 35ए, तीन तलाक और ‘एक देश एक चुनाव’ जैसे कई अहम मुद्दों पर भी बात की. उन्होंने कहा, ‘बीते 70 वर्षों में अलग-अलग सरकारों ने कश्मीर मामले से निपटने की कोशिश की पर कोई नतीजा नहीं निकला इसलिए, नए तरीके की जरूरत थी.’ इसके साथ ही उन्होंने देश में जनसंख्या नियंत्रण पर भी जोर दिया.

छत्तीसगढ़ : ओबीसी कोटे में दोगुना बढ़ोतरी, एससी, एसटी और ओबीसी आरक्षण को 72 फीसदी किया गया

छत्तीसगढ़ सरकार ने अनुसूचित जाति (एससी), अनुसूचित जनजाति (एसटी) और अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के लिए सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक संस्थाओं में आरक्षण 58 से बढ़ाकर 72 फीसदी कर दिया है. दैनिक जागरण की खबर के मुताबिक मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर इसका एलान किया. राज्य में फिलहाल एसटी को 32, एससी को 12 और ओबीसी को 14 फीसदी आरक्षण मिल रहा था. इन्हें बढ़ाकर अब क्रमश: 32, 13 और 27 फीसदी किया गया है. यानी इस फैसले से सबसे अधिक फायदा ओबीसी को मिला है, जिसके कोटे में करीब दोगुना बढ़ोतरी की गई है. हालांकि, सरकार के इस फैसले को अदालत में चुनौती देने की संभावना भी पैदा हो गई है. सुप्रीम कोर्ट ने अपने एक फैसले में आरक्षण की सीमा 50 फीसदी तय की हुई है.

‘क्या उन्होंने (पहलू खान) खुद को मारा है?’

पहलू खान के 28 वर्षीय बेटे इरशाद ने अदालती फैसले और पुलिस की कार्यप्रणाली को लेकर नाराजगी जाहिर की है. द टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने कहा, ‘मुझे विश्वास था कि उन्हें (आरोपितों) को कम से कम 20 साल या उम्र कैद की सजा होगी. लेकिन इस फैसले ने हमें अंदर से हिला दिया.’ इरशाद ने आगे बताया, ‘एक दिन पहले जिन लोगों को रिहा किया गया, मैंने देखा था कि उन्होंने मेरे पिता की हत्या की. आरोपितों में से एक ने एक स्टिंग ऑपरेशन में इस बात को माना था कि उसने हत्या की है.’ इसके आगे उन्होंने पुलिस जांच पर भी सवाल उठाया. इरशाद ने कहा, ‘पुलिस को सबूत क्यों नहीं मिले? क्या उन्होंने (पहलू खान) खुद को मारा है?’ उन्होंने निचली अदालत के इस फैसले को राजस्थान हाई कोर्ट में चुनौती देने की बात कही है. इससे पहले एक निचली अदालत ने पहलू खान की हत्या के मामले में छह आरोपितों को बरी कर दिया था.

मुख्य न्यायाधीश ने न्यायपालिका में अमर्यादित आचरण बढ़ने पर चिंता जाहिर की

मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने न्यायपालिका में अमर्यादित आचरण के बढ़ने पर चिंता जाहिर की है. नवभारत टाइम्स की खबर के मुताबिक उन्होंने गुरुवार को कहा कि गरिमापूर्ण तरीके से होने वाली चर्चाओं और बहस की जगह अदालतों में मुखर आचरण अपनाया जा रहा है. मुख्य न्यायाधीश ने स्वतंत्रता दिवस समारोह के मौके पर शीर्ष अदालत के परिसर में मौजूद लोगों से कहा, ‘अशिष्ट व्यवहार के ऐसे मामलों ने सुप्रीम कोर्ट सहित अन्य अदालतों में अपना सिर उठाया है. यह अहम है कि पक्षकार तेजी से इनकी पहचान कर इन्हें अलग-थलग करें.’ इसके आगे उन्होंने न्यायपालिका की गरिमा और व्यवस्था को बनाए रखने पर जोर दिया. इस मौके पर कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद और अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल भी मौजूद थे.

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री ने भ्रष्टाचार के खिलाफ धर्मयुद्ध लड़ने का दावा किया

उत्तराखंड की भाजपा सरकार ने भ्रष्टाचार के खिलाफ धर्मयुद्ध लड़ने का दावा किया है. जनसत्ता में प्रकाशित खबर के मुताबिक मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर कहा कि इसमें जनता का सहयोग बहुत जरूरी है. उन्होंने कहा, ‘देवभूमि को भ्रष्टाचार से आजाद करने के लिए जल्द ही एक कठोर कानून लाने जा रहे हैं. सीएम डैशबोर्ड-उत्कर्ष, हेल्पलाइन- 1905 और सेवा के अधिकार से कार्य संस्कृति में सुधार लाया जा रहा है. इसमें हमें काफी कामयाबी भी मिली है.’ इसके अलावा मुख्यमंत्री ने विकास का फायदा दूर-दराज के क्षेत्रों में पहुंचाने और पलायन रोकने के लिए ग्रामीण अर्थव्यवस्था को और मजबूत करने पर जोर दिया.

वाहन कंपनियों ने उत्पादन में बड़ी कटौती की

ऑटोमोबाइल सेक्टर में मंदी के चलते वाहन कंपनियों ने उत्पादन में बड़ी कटौती की है. हिन्दुस्तान ने सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (सियाम) के हवाले से कहा है कि चालू वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही (अप्रैल-जून) के दौरान केवल ह्युंडै मोटर और फॉक्सवैगन इंडिया के उत्पादन में मामूली बढ़ोतरी हुई है. वहीं, सबसे अधिक कमी फोर्ड इंडिया के उत्पादन में देखी गई. इस अवधि के दौरान कंपनी ने 25 फीसदी कम उत्पादन किया. वहीं, टाटा मोटर्स के खाते में भी 20.37 फीसदी की कमी दर्ज की गई. सभी कंपनियों की बात करें तो उन्होंने इस दौरान अपना उत्पादन 13.18 फीसदी कम किया है. दूसरी ओर, दोपहिया वाहनों के उत्पादन में भी 10 फीसदी कमी दर्ज की गई.