बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा का निधन हो गया है. वे लंबे से बीमार चल रहे थे. 82 वर्षीय जगन्नाथ मिश्रा का कुछ दिनों से दिल्ली में इलाज चल रहा था. बिहार के मौजूदा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उनके निधन पर दुख जताते हुए तीन दिन के लिए राजकीय शोक की घोषणा की है.

जगन्नाथ मिश्रा तीन बार बिहार के मुख्यमंत्री रहे. वे केंद्र में भी मंत्री बने. बिहार में कांग्रेस को मजबूत करने में उनका योगदान महत्वपूर्ण रहा. बाद में वे राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और फिर जेडीयू में शामिल हो गए. राजनीति में आने से पहले जगन्नाथ मिश्रा बिहार विश्वविद्यालय में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर रहे. 1975 में वे पहली बार बिहार के मुख्यमंत्री बनाए गए. उसके बाद 1980 और फिर 1989-90 में भी उन्हें राज्य की कमान सौंपी गई.

बतौर राजनेता जग्ननाथ मिश्रा का नाम भ्रष्टाचार से भी जुड़ा. सितंबर, 2013 में रांची में एक विशेष केंद्रीय जांच ब्यूरो ने उन्हें बिहार के चर्चित चारा घोटाले का दोषी ठहराया था. उनके साथ 43 अन्य लोगों को भी दोषी करार दिया गया था. अदालत ने जगन्नाथ मिश्रा को चार साल का कारावास और दो लाख रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई थी. बाद में उन्हें जमानत पर बरी कर दिया गया था.