प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी को गिरफ्तार कर लिया है. जांच एजेंसी के एक अधिकारी के मुताबिक रतुल पुरी के खिलाफ यह कार्रवाई सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया से जुड़े 354 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के मामले में की गई है. इससे तीन दिन पहले सीबीआई ने रतुल पुरी, उनकी कंपनी, पिता और प्रबंध निदेशक दीपक पुरी के खिलाफ आपराधिक साजिश, धोखाधड़ी, जालसाजी और भ्रष्टाचार के आरोपों के तहत मामला दर्ज किया था.

हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक इनके अलावा केंद्रीय जांच एजेंसी ने कंपनी के निदेशकों नीता पुरी (रतुल पुरी की मां), संजय जैन और विनीत शर्मा के खिलाफ भी इन्हीं आरोपों के तहत मुकदमा दर्ज किया है. रविवार को सीबीआई ने इस मामले से जुड़े छह ठिकानों पर तलाशी अभियान भी चलाए. इनमें आरोपित निदेशकों के निवास और कार्यालय शामिल रहे.

इस बीच, रतुल पुरी के खिलाफ शिकायत करने वाले बैंक ने एक बयान जारी कर बताया कि पुरी ने 2012 में मोजर बेयर के कार्यकारी निदेशक पद से इस्तीफा दे दिया था, हालांकि उनके माता-पिता कंपनी के बोर्ड में बतौर निदेशक बने रहे. बैंक का आरोप है कि कंपनी 2009 से अलग-अलग बैंकों से कई बार कर्ज ले चुकी है और उनसे पुनर्भुगतान की शर्तों में बदलाव करा चुकी है. बैंक का यह भी कहना है कि कंपनी और उसके निदेशकों ने नकली और जाली दस्तावेजों का इस्तेमाल कर फंड जारी करवाए.