उत्तराखंड के बाढ़ प्रभावित इलाकों तक राहत पहुंचाने के काम में जुटा एक हेलीकॉप्टर बुधवार को बिजली के तारों में फंसकर दुर्घटना का शिकार हो गया. खबरों के मुताबिक यह हादसा उस वक्त हुआ जब यह हेलीकॉप्टर राहत सामग्री लेकर राज्य के उत्तरकाशी जिले में मोरी से मोल्दी की तरफ जा रहा था. इस दुर्घटना में हेलीकॉप्टर पर सवार तीनों लोगों की मौत हो गई है.

वहीं दुर्घटना की सूचना मिलने के बाद शवों को बरामद करने के लिए भारत तिब्बत पुलिस बल (आईटीबीपी) का एक दल मौके पर पहुंच गया है. इस बीच उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस दुर्घटना पर दुख जताया है और मृतकों के परिजनों के लिए 15-15 लाख रुपये के मुआवजे का ऐलान भी किया है.

बीते कुछ दिनों से लगातार मूसलाधार बारिश के चलते उत्तराखंड के कई जिलों में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है. इसके अलावा पिछले रविवार को उत्तरकाशी के मोरी क्षेत्र में बादल फटने की वजह से बड़े पैमाने पर मकानों को नुकसान पहुंचा था, साथ ही 17 लोगों की मौत भी हो गई थी. वहीं कई इलाकों में भूस्खलन की वजह से सड़कें भी प्रभावित हुई हैं जिससे राहत और बचाव में जुटी आपदा प्रबंधन की टीमों को कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है.