अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इस सप्ताहांत फ्रांस में आयोजित जी7 शिखर सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे. इस दौरान वे उनसे जम्मू-कश्मीर को लेकर पैदा हुए तनाव पर बात कर सकते हैं. खबर के मुताबिक व्हाइट हाउस के एक अधिकारी ने बताया कि डोनाल्ड ट्रंप, नरेंद्र मोदी से पूछ सकते हैं कि जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने के बाद भारत-पाकिस्तान के बीच पैदा हुए तनाव को कम करने के लिए उनकी योजना क्या है. अधिकारी ने कहा कि अमेरिका इस समय दोनों देशों के हालात पर नजर बनाए हुए है.

एनडीटीवी के मुताबिक अधिकारी ने कहा, ‘राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री मोदी से सुनना चाहेंगे कि दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के रूप में (पाकिस्तान से चल रहे) क्षेत्रीय तनाव को कम करने और कश्मीर में मानवाधिकार का सम्मान बनाए रखने की उनकी योजना क्या है.’ व्हाइट हाउस के अधिकारी ने आगे कहा, ‘वे (ट्रंप) कश्मीर के हालात को काफी ध्यान से देख रहे हैं. उन्होंने दोनों तरफ (भारत-पाकिस्तान) से रुचि दिखाने पर तनाव कम करने के लिए सहयोग देने का संकेत दिया है. हालांकि हम जानते हैं कि भारत ने अब तक किसी तरह की औपचारिक मध्यस्थता की पहल नहीं की है.’

डोनाल्ड ट्रंप पहले भी भारत-पाकिस्तान की इच्छा पर कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता की पेशकश कर चुके हैं. बीते मंगलवार को उन्होंने एक बार फिर मध्यस्थता की इच्छा जताई थी. उन्होंने कहा था, ‘कश्मीर बहुत जटिल जगह है. यहां हिंदू और मुस्लिम दोनों हैं और मैं यह नहीं कहूंगा कि वे साथ में बहुत अच्छे से रहते हैं. मध्यस्थता के लिए मैं जो कर सकता हूं करूंगा. दो देश लंबे वक्त से साथ नहीं हैं. सच कहूं तो हालात बहुत विस्फोटक हैं.’