अब कश्मीर मुद्दे को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक में उठाएंगे. पाकिस्तानी समाचार पत्र एक्सप्रेस ट्रिब्यून के मुताबिक इमरान खान 27 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा में भाषण देंगे और इस दौरान वह भारत द्वारा जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाने के मुद्दे को उठाएंगे.

अखबार ने कुछ सरकारी सूत्रों के हवाले से यह भी बताया है कि इमरान खान भारत के खिलाफ कुछ और तैयारियां भी कर रहे हैं. उन्होंने अपनी पार्टी नेताओं को संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक के दौरान न्यूयार्क में भारत के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए मानवाधिकार संगठनों को लामबंद करने का निर्देश दिया है.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान 23 सितंबर को चार दिन की अमेरिका यात्रा पर जायेंगे. वह संयुक्त राष्ट्र महासभा सत्र के मौके पर अपने मलेशियाई समकक्ष एवं अन्य वैश्विक नेताओं के साथ बैठक करेंगे. वह प्रवासी पाकिस्तानियों और व्यापारिक समुदाय के प्रतिनिधियों के साथ भी बैठक करेंगे.

उधर, शुक्रवार को पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने कहा कि उसने जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकार की स्थिति पर संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त को एक और पत्र भेजा है. यह पत्र विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी द्वारा भेजा गया है.

विदेश कार्यालय के मुताबिक पत्र में भारत द्वारा जम्मू कश्मीर से विशेष दर्जा वापस लेने के बाद के परिणाम पर विस्तार से प्रकाश डाला गया है. यह पत्र संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद और संयुक्त राष्ट्र के सभी सदस्यों के साथ साझा किया जा रहा है. इससे पहले चार अगस्त को विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त को एक पत्र लिखा था.