जम्मू-कश्मीर में लगी पाबंदियों के बीच वहां के एक होटल को अतिरिक्त जेल में तब्दील कर दिया गया है. एक स्थानीय अदालत के आदेश पर श्रीनगर स्थित शेर-ए-कश्मीर इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर (एसकेआईसीसी) नाम के इस होटल को अतिरिक्त जेल बनाया गया है. यहां मुख्यधारा की राजनीति से जुड़े जम्मू-कश्मीर के करीब 50 नेताओं को बीती पांच अगस्त से हिरासत में रखा गया है. कोर्ट के आदेश के बाद ये 50 नेता 19 दिनों के बाद अपने परिवारों से मिल पाएंगे.

द हिंदू में प्रकाशित खबर के मुताबिक श्रीनगर मजिस्ट्रेट ने जेल से जुड़ी नियमावली लागू करने के लिए पुलिस उप-अधीक्षक (कश्मीर सुरक्षा) को इस अतिरिक्त जेल का अधीक्षक नियुक्त किया है. आदेश के मुताबिक जेल अधीक्षक हिरासत में लिए गए नेताओं के इंटरव्यू और पत्र व्यवहार की अनुमति देने के लिए जरूरी कदम उठाएंगे. साथ ही, उनके रिश्तेदारों और कानूनी सलाहकारों को उनसे एक या दो बार मिलने देने पर फैसला लेंगे. इस आदेश के बाद नेताओं के रिश्तेदार बड़ी संख्या में एसकेआईसीसी पहुंच रहे हैं.

अखबार ने बताया कि इस होटल को जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री शेख मुहम्मद अब्दुल्ला ने 1980 के दशक में बनवाया था. इस समय यहां नेशनल कॉन्फ्रेंस, पीडीपी, पीपल्स कॉन्फ्रेंस और कांग्रेस के बड़े नेताओं को रखा गया है. इनमें पीपल्स कॉन्फ्रेंस के सज्जाद लोन भी शामिल हैं. बीती 21 अगस्त को उनकी बहन शबनम गनी लोन ने कोर्ट में याचिका दायर कर उन्हें और उनकी मां को सज्जाद से मिलने देने की अनुमति मांग थी. कोर्ट ने उन्हें बीती 23 अगस्त को मिलने की इजाजत दी थी.