पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने अपनी ही पार्टी के कुछ लोगों पर नाम लिए बिना कटाक्ष किया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खलनायक की तरह पेश नहीं करने की सलाह देने वाले जयराम रमेश और अभिषेक मनु सिंघवी के बयानों पर बोलते हुए कपिल सिब्बल ने कहा कि भाजपा के किस नेता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को विपक्ष के नेताओं को गलत ढंग से पेश करने से रोका. सिब्बल ने सवालिया लहजे ट्वीट में ट्वीट किया, ‘भाजपा का कौन सा नेता खड़ा हुआ और सार्वजनिक तौर पर प्रधानमंत्री एवं उनकी पार्टी को सलाह दी कि वे विपक्ष और उसके नेताओं को खलनायक की तरह पेश करना बंद करें?’

गौरतलब है कि जयराम रमेश, अभिषेक मनु सिंघवी और शशि थरूर जैसे कांग्रेसी नेताओं ने कहा था मोदी को हमेशा खलनायक की तरह पेश नहीं करना चाहिए. इन नेताओं के मुताबिक व्यक्ति की नहीं, बल्कि सरकार की नीतियों एवं गलतियों की आलोचना होनी चाहिए. उनकी टिप्पणियों के बारे में पूछे जाने पर कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने शुक्रवार को कहा कि इस बारे में बयान देने वाले नेताओं से ही सवाल किया जाए.

पीटीआई के मुताबिक मनीष तिवारी ने कहा, ‘मैं आपसे (मीडिया) आग्रह करना चाहता हूं कि उनके बयान पर अगर आपको कोई प्रतिक्रिया चाहिए तो वह प्रतिक्रिया उनसे ले लीजिए. जहां तक कांग्रेस पार्टी का सवाल है, तो उसका मानना है कि इस देश में एक बहुत विकृत और बहुत जटिल आर्थिक संकट है और इस आर्थिक संकट से करोड़ों लोग बेरोजगार हो रहे हैं.’