कांग्रेस नेता राहुल गांधी और दूसरी विपक्षी पार्टियों के नेता शनिवार को कश्मीर के हालात का जायजा लेने श्रीनगर पहुंचे थे. लेकिन स्थानीय प्रशासन ने उन्हें एयरपोर्ट से बाहर नहीं निकलने दिया. इसके बाद इन सभी नेताओं को एक फ्लाइट से वापस दिल्ली भेज दिया गया. हालांकि इस दौरान फ्लाइट में ही एक कश्मीरी महिला ने राहुल गांधी को वहां के हालात और अपनी मुश्किलों के बारे में कई बातें कहीं. न्यूज18 के पत्रकार अरुण कुमार सिंह ने इस घटना का वीडियो अपने ट्विटर हैंडल से शेयर किया था और इसके बाद सोशल मीडिया पर यह लगातार शेयर किया जा रहा है.

वीडियो में इस कश्मीरी महिला को भावुक होते हुए यह कहते सुना जा सकता है कि ताजा हालात में कश्मीर के लोग बहुत परेशान हैं. फ्लाइट में उन्हें राहुल गांधी से यह कहते हुए सुना जा सकता है, ‘घर के छोटे-छोटे बच्चे जो टेंथ (दसवीं) में पढ़ते हैं, वो तक घर से नहीं निकल पाते... अगर वो एक दूसरे को ढूंढ़ने जाते हैं तो उनको पकड़ लेते हैं.’ इसके आगे वे यह भी बताती हैं कि उनके एक भाई को दिल की बीमारी है लेकिन उन्हें दस दिन तक डॉक्टर को नहीं दिखाया जा सका. इसके आगे वे कहती हैं, ‘हम बहुत परेशान हैं.’

इस घटना के समय एक महिला पत्रकार और दूसरे कुछ लोगों द्वारा इस कश्मीरी महिला को सांत्वना देने की कोशिश करते हुए भी देखा जा सकता है. वहीं राहुल गांधी ये बातें ध्यान से सुनते हैं और आखिर में उठकर एक बार महिला का हाथ थामकर खुद भी उसे शांत करने की कोशिश करते हैं.

केंद्र सरकार ने पांच अगस्त को जम्मू-कश्मीर से धारा-370 के अधिकतर प्रावधानों को हटाने का फैसला किया था. इसके साथ ही राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने का भी फैसला किया गया था. इससे पहले चार तारीख की रात को राज्य में धारा 144 लागू कर दी गई थी. तब से ही कश्मीर घाटी के एक बड़े हिस्से में फोन और इंटरनेट सेवाएं अस्थायी रूप से बंद हैं.