पाकिस्तान के सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा का कार्यकाल तीन साल के लिए बढ़ाया गया | रविवार, 18 अगस्त 2019

पाकिस्तान ने अपने सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा का कार्यकाल तीन साल के लिए बढ़ाने का फैसला किया. इस बारे में पाकिस्तान सरकार ने एक नोटिफिकेशन भी जारी किया. इसके जरिये कहा गया, ‘कमर जावेद बाजवा का नया कार्यकाल उनके मौजूदा कार्यकाल के खत्म होने के दिन से लागू होगा. यह फैसला क्षेत्रीय सुरक्षा के माहौल के मद्देनजर किया गया है.’ बाजवा का कार्यकाल बढ़ाने का फैसला ऐसे वक्त पर हुआ है जब भारत-पाकिस्तान के रिश्तों में तनाव काफी ज्यादा बढ़ा हुआ है. तनाव की वजह भारत सरकार द्वारा धारा 370 और जम्मू-कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने वाला फैसला है. पाकिस्तान ने जहां इन फैसलों पर आपत्ति जताई है तो भारत ने इसे अपना आंतरिक मामला बताया है. वहीं पाकिस्तान ने चीन की मदद से इस मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भी उठाया था.

हमने आर्थिक मदद बंद की और पाकिस्तान से रिश्ते सुधर गए : डोनाल्ड ट्रंप | सोमवार, 19 अगस्त 2019

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि पाकिस्तान को दी जाने वाली सुरक्षा सहायता बंद करने के बाद अमेरिका और पाकिस्तान के बीच रिश्तों में सुधार आया. न्यूजर्सी के बेडमिनिस्टर में पत्रकारों से बातचीत के दौरान डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, ‘हमने पाकिस्तान को हर साल दी जाने वाली मदद में 1.3 अरब डॉलर की कटौती की और उसके साथ हमारे रिश्ते बेहतर हो गए....पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान भी हमारे यहां आए थे.’ इमरान खान पिछले महीने ही अमेरिका की यात्रा पर गए थे, जहां डोनाल्ड ट्रंप ने व्हाइट हाउस में उनसे मुलाकात की थी. हालांकि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का यह भी मानना है कि किसी देश के साथ रिश्तों में विदेशी सहायता की मामूली अहमियत ही होती है.

मलेशिया : हिंदुओं के खिलाफ टिप्पणी के बाद जाकिर नाइक के भाषणों पर पूरी तरह से रोक | मंगलवार, 20 अगस्त 2019

आतंकी गतिविधियों के आरोप में भारत में वांछित जाकिर नाइक पर मलेशिया में भाषण देने पर रोक लगा दी गई. स्थानीय अधिकारियों के मुताबिक ऐसा राष्ट्रीय सुरक्षा के हित में और सामुदायिक सौहार्द बनाए रखने के लिए किया गया है. इस विवादित इस्लामिक प्रचारक को हिंदुओं के खिलाफ नस्लीय टिप्पणी करने के मामले में सोमवार को दूसरी बार तलब किया गया था. इससे पहले प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद का बयान आया था कि जाकिर नाइक को देश में राजनीतिक गतिविधियों में शामिल होने की इजाजत नहीं है. अपनी विवादित टिप्पणी में जाकिर नाइक का कहना था कि मलेशिया के हिंदू भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ज्यादा वफादार हैं. उसने यह भी कहा था कि मलेशिया में हिंदुओं को उससे 100 गुना ज्यादा अधिकार मिले हुए हैं जितने मुस्लिम अल्पसंख्यकों को भारत में हैं. इसके बाद उस पर देश में सामुदायिक तनाव भड़काने की कोशिश के आरोप लग रहे हैं.

चीन ने मुस्लिम बहुल शिनजियांग प्रांत में आतंकवाद रोधी विशेष कमांडो यूनिट का गठन किया | बुधवार, 21 अगस्त 2019

चीन ने अपने अशांत मुस्लिम बहुल शिनजियांग प्रांत में एक नई आतंकवाद रोधी विशेष कमांडो यूनिट का गठन किया. पीटीआई के मुताबिक चीन के सरकारी अखबार ‘ग्लोबल टाइम्स’ ने बुधवार को यह जानकारी दी. ‘ग्लोबल टाइम्स’ की रिपोर्ट में कहा गया है कि चीनी पीपुल्स आर्म्ड पुलिस ने पहली बार शिनजियांग प्रांत में ‘माउंटेन ईगल कमांडो’ नाम की एक नई आतंकवाद रोधी विशेष कमांडो यूनिट गठित की है. खबर के मुताबिक इस यूनिट में किसी भी परिस्थिति में, किसी भी समय और किसी भी स्थान पर मिशन का संचालन करने में सक्षम कमांडो तैयार किए जाएंगे. चीन इससे पहले भी दो आतंकवाद-रोधी कमांडो यूनिट गठित कर चुका है. उसने 1982 में बीजिंग में ‘फाल्कन यूनिट’ की स्थापना की थी. इसके बाद 2002 में देश के गुआंगजो में ‘स्नो लेपर्ड यूनिट’ को स्थापित किया गया था.

हमें उम्मीद है कि भारत सरकार कश्मीर के मुसलमानों का दमन नहीं होने देगी : अयातुल्ला अली खमेनई | गुरुवार, 22 अगस्त 2019

ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खमेनेई ने कश्मीर में मुसलमानों की स्थिति को लेकर चिंता जताई. एक बयान में उन्होंने कहा है कि ईरान भारत सरकार से उम्मीद करता है कि वह कश्मीर के लोगों के प्रति एक न्यायपूर्ण नीति अपनाएगी. अयातुल्ला अली खमेनेई का यह बयान भारत सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने के करीब दो हफ्ते बाद आया. उनका कहना है, ‘हमें उम्मीद है कि भारत सरकार इलाके के मुसलमानों का दमन और उनके साथ ज्यादती नहीं होने देगी.’ ईरान के सर्वोच्च धार्मिक नेता ने कश्मीर के मौजूदा हालात के लिए ब्रिटेन को भी दोषी ठहराया. अपने बयान में उनका कहना है, ‘कश्मीर में जो मौजूदा हालात हैं और उसे लेकर भारत और पाकिस्तान का जो झगड़ा है वह भारत छोड़ते हुए ब्रिटिश सरकार की कारस्तानी का नतीजा है. अंग्रेजों ने जानबूझकर इस घाव को खुला छोड़ दिया ताकि कश्मीर में टकराव चलता रहे.’

बांग्लादेश की चिंता फिर बढ़ी, म्यामांर जाने के लिए एक भी रोहिंग्या मुसलमान तैयार नहीं हुआ | शुक्रवार, 23 अगस्त 2019

रोहिंग्या मुसलमानों को लेकर बांग्लादेश सरकार की चिंता एक बार फिर बढ़ गई. इन्हें बांग्लादेश से म्यामांर भेजने की ताजा कवायद का नतीजा भी शून्य रहा. गुरूवार को बांग्लादेश में रोहिंग्या शिविरों के बाहर वाहन दिन भर खड़े रहे, लेकिन उनमें कोई भी रोहिंग्या मुसलमान सवार नहीं हुआ. साल 2017 में सैन्य कार्रवाई के चलते सात लाख से ज्यादा रोहिंग्या मुसलमान म्यामांर से भागकर बांग्लादेश पहुंचे थे. इसके बाद से ही इन्हें फिर म्यांमार पहुंचाने की कवायद की जा रही है. इससे पहले बीते साल नवंबर में भी इन्हें वापस भेजने की कोशिश की गयी थी, लेकिन वह विफल रही. बांग्लादेशी मीडिया के मुताबिक म्यांमार से आए रोहिंग्या मुसलमान काफी डरे हुए हैं, ये लोग अपनी सुरक्षा की गारंटी मिले बिना वापस लौटना नहीं चाहते. साथ ही इनका यह भी कहना है कि म्यामांर सरकार उन्हें नागरिकता देने की गारंटी दे.

नरेंद्र मोदी को आज यूएई का सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘ऑर्डर ऑफ जायेद’ मिला | शनिवार, 24 अगस्त 2019

फ्रांस के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) पहुंचे. इस दौरान उनकी अबू धाबी के शहजादे शेख मोहम्मद बिन जायद अल नहयान के साथ मुलाकात हुई. यूएई ने नरेंद्र मोदी को अपना सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘ऑर्डर ऑफ जायेद’ भी प्रदान किया. यह सम्मान पाने वाले मोदी पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं. मोहम्मद बिन जायद अल नाह्यान के मुताबिक भारत और यूएई के बीच द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ाने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महत्वपूर्ण योगदान दिया है. ‘ऑर्डर ऑफ जायेद’ की शुरुआत साल 1995 में हुई थी. विदेशी राष्ट्राध्यक्षों की बात करें तो इससे पहले यह सम्मान 2007 में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को दिया गया था. 2010 में इससे ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ, 2016 में सऊदी के शाह सलमान बिन अब्दुल्ला अजीज अल सऊद और साल 2018 में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को सम्मानित किया गया था.

देश और दुनिया की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें.