कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता सिद्धारमैया ने कहा है कि पार्टी को मजबूत बनाया जाए, क्योंकि चुनाव कभी आ सकते हैं. सिद्धारमैया के मुताबिक किसी को विश्वास नहीं है कि भाजपा के नेतृत्व वाली बीएस येदियुरप्पा सरकार ज्यादा समय तक चलेगी. डेक्कन क्रॉनिकल की खबर के मुताबिक पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि येदियुरप्पा सरकार ज्यादा से ज्यादा एक साल तक चल सकती है. इस दौरान कभी भी मध्यावधि चुनाव हो सकते हैं, लिहाजा कांग्रेस कार्यकर्ता इसकी तैयारी शुरू कर दें.

खबर के मुताबिक कर्नाटक के हुबली में पत्रकारों से बातचीत में सिद्धारमैया ने कहा, ‘अगर वे बागियों (कांग्रेस-जेडीएस छोड़ कर भाजपा में शामिल हुए 17 विधायक) के साथ मिल कर सरकार बनाते हैं तो क्या वह आखिर तक टिक सकती है? वे कितने समय तक ऐसा कर पाएंगे? मुझे नहीं लगता कि वे एक साल भी रह पाएंगे, यह बहुत बड़ी बात है. वे लोगों के जनादेश से सत्ता में नहीं आए. इसके लिए उन्होंने खरीद-फरोख्त की. जनता उन्हें सबक सिखाएगी.’

इस बीच, खबर यह भी है कि कर्नाटक सरकार के कैबिनेट विस्तार के बाद दिए गए मंत्रालयों और विभागों से नए मंत्री खुश नहीं हैं. इसे लेकर भाजपा के अंदर ही विरोध शुरू हो गया है. खबर के मुताबिक चिकमगलूर के विधायक सीटी रवि ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर अपना विरोध दर्ज कराया है. वहीं, पूर्व भाजपा सरकारों में उप-मुख्यमंत्री रहे केएस ईश्वरप्पा और आर अशोक को इस बार यह पद नहीं दिया गया. इसे लेकर भी पार्टी के लोग असंतुष्ट दिखाई दे रहे हैं. इन दोनों नेताओं के समर्थकों ने इसे उनका अपमान बताया है और विरोध करने की चेतावनी दी है.