पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह की पैरोल याचिका खारिज कर दी है. यह याचिका गुरमीत राम रहीम की पत्नी हरजीत कौर ने इस महीने की शुरुआत में दाखिल की थी. इंडिया टुडे की एक खबर के मुताबिक इस पैरोल याचिका में दलील दी गई थी कि गुरमीत की मां गंभीर रूप से बीमार हैं इसलिए उसे उनकी देखभाल के लिए जेल से रिहा किया जाए. डेरा सच्चा सौदा प्रमुख इस समय अपनी दो अनुयायियों के साथ बलात्कार करने और एक पत्रकार की हत्या के आरोप में हरियाणा की रोहतक जेल में बंद है.

इस स्वयंभू धर्मगुरु ने इस साल जून में भी पैरोल के लिए आवेदन दिया था. तब उस आवेदन में गुरमीत का कहना था कि उसे हरियाणा के सिरसा में अपनी जमीन पर खेती-बाड़ी का काम करने के लिए दो महीने जेल से बाहर रहने की अनुमति दी जाए. हालांकि बाद उसने यह आवेदन वापस ले लिया था.

गुरमीत को दो महिलाओं से दुष्कर्म के मामले में अगस्त 2017 में 20 साल कैद की सजा सुनाई गई थी. वहीं पंचकुला में सीबीआई की विशेष अदालत ने इस साल जनवरी में उसे और तीन अन्य आरोपितों को एक पत्रकार की हत्या के 16 साल पुराने मामले में उम्रकैद की सजा सुनाई थी.