असम के सिलचर से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के एक विधायक ने दावा किया है कि जब गायें बांसुरी की तान सुनती हैं तो ज्यादा दूध देने लगती हैं. हिंदुस्तान टाइम्स की एक खबर के मुताबिक सिलचर के विधायक दिलीप कुमार पॉल ने मंगलवार को यह बात कही है और इससे पहले बीते रविवार को एक सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान भी उन्होंने यही दावा किया था.

मंगलवार को दिलीप कुमार पॉल ने कहा है, ‘मैंने उस कार्यक्रम (रविवार को आयोजित) में जुटी भीड़ को संगीत और नृत्य के सकारात्मक प्रभाव के बारे में बताया था कि कैसे वैज्ञानिक तरीके से यह साबित किया जा चुका है अगर गायें बांसुरी की धुन सुनती हैं... जैसी भगवान की कृष्ण की बांसुरी बजती थी... तो वे ज्यादा दूध देने लगती हैं.’

इंडियन एक्सप्रेस की एक खबर के मुताबिक रविवार को उनका यह भी कहना था, ‘यह प्रचीन समय का विज्ञान है और हम इस तकनीक को आज वापस लाएंगे.’ असम विधानसभा के उपाध्यक्ष रह चुके पॉल ने हिंदुस्तान टाइम्स से बातचीत में दावा किया है कि गुजरात की एक एनजीओ ने एक अनुसंधान किया है जिससे साबित होता है कि बांसुरी बजाने पर गायें ज्यादा दूध देने लगती हैं. इसके अलावा उनका यह भी कहना है कि भारतीय नस्लों की गायों के दूध से बने उत्पाद विदेशी नस्लों की गायों के मुकाबले बेहतर होते हैं.