जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने कश्मीर की स्थिति में तेजी से सुधार होने की बात कही है और यह भी कहा है कि हर गुजरते दिन के साथ सामान्य जन-जीवन भी बेहतर होता जा रहा है. इसको देखते हुए कश्मीर में पहले ही 3,037 प्राथमिक और 774 माध्यमिक विद्यालय खोले जा चुके हैं. साथ ही घाटी के जिन इलाकों से पाबंदियां हटा ली गई हैं अब कल (बुधवार) से वहां के हाई स्कूलों को भी खोल दिया जाएगा. खबरों के मुताबिक हाई स्कूलों के खोले जाने संबंधी यह घोषणा जम्मू-कश्मीर के शिक्षा निदेशक यूनिस मलिक ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान की. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘बीते कुछ दिनों के दौरान अब तक खोले गए स्कूलों में शिक्षकों की उपस्थिति में भी उल्लेखनीय सुधार देखने को मिला है.’

इस दौरान जम्मू-कश्मीर की सूचना और जनसंपर्क निदेशक सैयद सहरीश असगर ने स्वीकार किया है कि घाटी में अब भी ‘आदर्श’ स्थिति नहीं बन पाई है और कोई यह नहीं कह रहा कि यहां सब कुछ ‘सामान्य’ है. लेकिन लोगों के बीच वस्तुओं का लेन-देन बढ़ा है. संचार सेवाएं बहाल करने में बीएसएनएल के कर्मचारी जुटे हुए हैं. इसके अलावा कश्मीर की सुरक्षा-व्यवस्था के मद्देनजर नए पुलिस थाने खोले जाने को लेकर भी काम किया जा रहा है.

इससे पहले इसी महीने केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर से धारा 370 के अधिकांश प्रावधान हटाने और इस राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने का फैसला किया था. उसी को देखते हुए कश्मीर के ज्यादातर इलाकों में कर्फ्यू और कई अन्य प्रतिबंध भी लगा दिए गए थे. इसके अलावा सुरक्षा-व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए वहां मुख्यधारा के साथ कई अलगाववादी नेताओं को हिरासत में भी ले लिया गया था. इन नेताओं को अब भी नजरबंद रखा गया है.