पाकिस्तान के विज्ञान एवं तकनीकी मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने कहा है कि उनके देश के प्रधानमंत्री इमरान खान भारत के लिए अपने वायु क्षेत्र को पूरी तरह बंद करने पर विचार कर रहे हैं. उन्होंने यह बात एक ट्वीट के जरिये कही है. इसी ट्वीट से चौधरी फवाद हुसैन ने यह भी कहा, ‘अफगानिस्तान से व्यापार के लिए भारत, पाकिस्तान के जिस सड़क मार्ग का इस्तेमाल करता है उसे भी बंद किए जाने को लेकर इमरान खान को सुझाव दिया गया है. एक कैबिनेट मीटिंग के दौरान दिए गए इन सुझावों के कानूनी पहलुओं पर विचार-विमर्श किया जा रहा है.’ इसी ट्वीट से चेतावनी भरे लहजे में पाकिस्तानी मंत्री ने यह भी कहा, ‘शुरुआत मोदी (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) ने की है और खत्म हम करेंगे!’

वैसे यह पहला मौका नहीं है जब भारतीय विमानों के लिए पाकिस्तान अपना वायु क्षेत्र बंद करने पर विचार कर रहा है. इससे पहले इसी साल फरवरी में पाकिस्तान के बालाकोट में भारतीय वायु सेना की ‘एयर स्ट्राइक’ के बाद भी उसने 140 दिनों तक अपना वायुक्षेत्र बंद रखा था.

इधर, इसी महीने जम्मू-कश्मीर को लेकर किए गए भारत के ‘फैसलों’ के बाद इमरान खान सहित उनकी कैबिनेट के मंत्रियों की तरफ से पहले भी ‘उकसावे भरी बयानबाजी’ हुई है. बीते दिनों वहां के रेल मंत्री शेख राशिद अहमद ने भारत-पाकिस्तान के बीच चलने वाले ट्रेनों समझौता और थार एक्सप्रेस की सेवाएं निरस्त करने की घोषणा की थी. इस बीच इसी सोमवार को इमरान खान ने जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने को नरेंद्र मोदी की सबसे बड़ी ‘भूल’ बताया था और इसे लेकर भारत-पाकिस्तान के बीच परमाणु युद्ध की ‘आशंका’ भी जताई थी.