केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को देश में 75 नये मेडिकल कॉलेज खोलने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है.

मंत्रिमंडल की बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने संवाददाताओं को बताया कि कैबिनेट ने देश में 75 नये मेडिकल कॉलेज खोलने का निर्णय किया है. उन्होंने कहा कि ये सभी मेडिकल कॉलेज वैसे स्थानों पर खोले जायेंगे, जहां पहले से कोई मेडिकल कॉलेज नहीं है. इस प्रस्ताव को अमल में लाने के लिए 24,375 करोड़ रूपये की लागत का अनुमान है और इन कॉलेजों की स्थापना 2021-22 तक करने का लक्ष्य रखा गया है. सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने कहा इतनी बड़ी संख्या में मेडिकल कॉलेज खोले जाने से लाखों की संख्या में गरीबों एवं ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले लोगों को लाभ होगा और ग्रामीण इलाकों में डाक्टरों की उपलब्धता बढ़ेगी.

जावड़ेकर ने बताया कि सरकार के इस फैसले से एमबीबीएस की 15,700 नयी सीट सृजित होंगी. केंद्रीय मंत्री ने यह जानकारी भी दी कि पिछले पांच वर्षों में मोदी सरकार ने पीजी और एमबीबीएस की 45 हजार सीटें बढ़ाईं और 82 मेडिकल कालेजों को मंजूरी दी.