उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दावा किया है कि राज्य में बीते सात दशकों में जितना कार्य हुआ, उससे ज्यादा कार्य उनकी सरकार ने कर दिया है. आदित्यनाथ ने बुधवार को बहराइच जिले में नवनिर्मित मेडिकल कॉलेजों के छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए यह बात कही.

पीटीआई के मुताबिक मुख्यमंत्री ने पूर्ववर्ती सरकारों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि आजादी के बाद की सरकारों ने राज्य में जितना काम किया, उससे अधिक कार्य उनकी सरकार ने अब तक के अपने कार्यकाल में कर दिया है. ‘1947 से लेकर 2016 तक उत्तर प्रदेश में कुल 12 मेडिकल कॉलेज थे जिसमें केवल 1790 छात्रों को प्रवेश मिल पाता था. इस बार हम प्रदेश सरकार द्वारा संचालित संस्थानों में 2578 छात्र-छात्राओं को एमबीबीएस में प्रवेश दे रहे हैं.’

योगी आदित्यनाथ का आगे कहना था, ‘बदलता हुआ उत्तर प्रदेश और बदलता हुआ देश आपके सामने है, हमने जीवन के अनेक क्षेत्रों में इसी प्रकार का कार्य किया है. एमबीबीएस के एक छात्र को डॉक्टर बनाने में सरकार तकरीबन 10 करोड़ रूपए खर्च करती है.’

इस दौरान मुख्यमंत्री ने जानकारी देते हुए यह भी बताया कि देश के अंदर नए एम्स खुलने की प्रक्रिया तेजी के साथ आगे बढ़ रही है और यही कारण है कि विगत तीन-चार वर्षों में देश में नए चिकित्सकों की संख्या बढ़ी है. प्रदेश में 15 नए मेडिकल कॉलेज का कार्य प्रगति पर है, जिनमें से 6 कॉलेजों - बहराइच, अयोध्या, बस्ती, फिरोज़ाबाद, बदायूं और शाहजहांपुर - में प्रवेश भी प्रारम्भ हो चुका है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मुताबिक 14 नए मेडिकल कॉलेज का प्रस्ताव भी उनकी सरकार ने केंद्र को भेज दिया है.