इतिहास में 30 अगस्त का दिन मुगल साम्राज्य की एक ऐसी घटना से जुड़ा है जिसने मुगलों की विरासत पर ‘गद्दी के लिए भाई का कत्ल’ करने का कभी न मिटने वाला धब्बा लगा दिया. 1659 में यही वह दिन था जब शाहजहां के पुत्र औरंगजेब ने अपने बड़े भाई दारा शिकोह को मौत के घाट उतार दिया था.

दारा शिकोह को 1633 में युवराज बनाया गया था और शाहजहां उन्हें अपने उत्तराधिकारी के रूप में देखते थे. लेकिन दारा के अन्य भाइयों को यह कुबूल नहीं था. औरंगजेब से उसकी दुश्मनी सबसे ज्यादा थी. दारा ने तीन बार औरंगजेब से लड़ाई लड़ी. लेकिन तीनों ही बार उसे शिकस्त का सामना करना पड़ा. बाद में मलिक जीवन खान नाम के एक अफगान सरदार की गद्दारी की वजह से वह औरंगजेब के हत्थे चढ़ा. उसने दारा को पहले भिखारियों की पोशाक पहना कर दिल्ली की सड़कों पर घुमाया. बाद में मुकदमा चलवा कर उसे मौत की सजा दी.

देश-दुनिया के इतिहास में 30 अगस्त की तारीख में दर्ज कुछ अन्य महत्वपूर्ण घटनाओं का सिलसिलेवार ब्यौरा इस प्रकार है:

1559 : अकबर के पुत्र और मुगल वंश के शासक जहांगीर का जन्म.

1888 : भारत की आजादी के लिए फांसी के फंदे पर झूलने वाले अमर शहीदों में से एक कनाईलाल दत्त का जन्म.

1928 : द इंडिपेंडेंस ऑफ इंडिया लीग की भारत में स्थापना.

1951 : फिलिपींस और अमेरिका ने एक रक्षा संधि पर हस्ताक्षर किए.

1984 : अंतरिक्ष यान ‘डिस्कवरी’ ने पहली बार उड़ान भरी.

1991 : अजरबैजान ने सोवियत संघ से स्वतंत्रता की घोषणा की.

2003 : रूसी पनडुब्बी बेरेंट्स सागर में डूबी, नौ मरे.

2007 : जर्मनी के दो वैज्ञानिक गुंटर निमित्ज और आल्फोंस स्टालहोफेन ने अल्बर्ट आइंसटीन के सापेक्षता के सिद्धान्त को गलत ठहराने का दावा किया.

2009 : भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने चंद्रयान प्रथम औपचारिक रूप से समाप्त किया.

2018 : भारतीय हॉकी टीम जकार्ता एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक की दौड़ से बाहर. टीम ने 2020 में होने वाले तोक्यो ओलंपिक खेलों में सीधे प्रवेश का मौका भी गंवाया.