कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की सीबीआई हिरासत दो सितंबर तक के लिए बढ़ा दी गई है. शुक्रवार को यह फैसला एक विशेष अदालत ने सुनाया. खबरों के मुताबिक सीबीआई के वकील केएम नटराज ने पी चिदंबरम पर पूछताछ में सहयोग न करने का आरोप लगाते हुए उनकी हिरासत की अवधि पांच दिन बढ़ाने की मांग की थी. इस पर अदालत ने कहा कि सीबीआई बार-बार पांच दिनों की हिरासत की क्यों मांग करती है, वह एक साथ 15 दिनों की हिरासत क्यों नहीं मांगती? इस पर केएम नजटरान ने कहा कि सीबीआई दूसरे आरोपितों के साथ चिदंबरम का आमना-सामना करवाना चाहती है.

वहीं पी चिदंबरम के वकील ने उनकी हिरासत बढ़ाए जाने का विरोध किया. अपने तर्क में उन्होंने कहा कि सीबीआई ने 55 घंटे की पूछताछ में उनसे 400 सवाल पूछे हैं और बार-बार सवालों का दोहराया जा रहा है. इधर, पी चिंदबरम की तरफ से उन्हें सीबीआई हिरासत में भेजे जाने के निचली अदालत के आदेश को लेकर सुप्रीम कोर्ट में भी एक याचिका दाखिल की गई है. शीर्ष अदालत इस पर आगामी दो सितंबर को सुनवाई करेगी.

आईएनएक्स मीडिया मामले में पी चिदंबरम को सीबीआई ने बीती 21 अगस्त की देर शाम एक नाटकीय घटनाक्रम के बाद गिरफ्तार किया था. उसके अगले दिन कोर्ट में पेश किए जाने के बाद उन्हें पूछताछ के लिए सीबीआई हिरासत में भेज दिया गया था. तब से पी चिदंबरम सीबीआई की हिरासत में ही हैं.