पी चिदंबरम की मुश्किलें जारी, सीबीआई हिरासत एक बार फिर बढ़ी

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की मुश्किलें जारी हैं. आज उनकी सीबीआई हिरासत और तीन दिन के लिए बढ़ा दी गई. यानी अब उनको दो सितंबर तक हिरासत में रहना होगा. जांच एजेंसी ने विशेष अदालत से पी चिदंबरम की हिरासत पांच दिन बढ़ाने की मांग की थी. उसका कहना था कि उसे अभी और पूछताछ करनी है. सीबीआई ने पूर्व वित्त मंत्री को 21 अगस्त को गिरफ्तार किया था. इसके बाद 26 तारीख को उनकी हिरासत चार दिन के लिए बढ़ा दी गई थी. उनकी यह गिरफ्तारी आईएनएक्स मीडिया मामले में हुई है. आरोप है कि 2006 में विदेशी निवेश के लिए आईएनएक्स मीडिया समूह को मंजूरी देने में गड़बड़ी की गई. तब पी चिदंबरम ही वित्त मंत्री थे.

इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी भी सुप्रीम कोर्ट से पी चिदंबरम को हिरासत में लेने की मंजूरी देने का अनुरोध कर रहा है. जांच एजेंसी ने पूर्व वित्त मंत्री के खिलाफ मनी लॉन्डरिंग का मामला दर्ज किया है. सुप्रीम कोर्ट ने इस पर फैसला पांच सितंबर के लिए सुरक्षित रख लिया है.

अर्थव्यवस्था में मंदी के संकेतों के बीच निर्मला सीतारमण की एक और बड़ी प्रेस कॉन्फ्रेंस, कई बैंकों के विलय का ऐलान किया

अर्थव्यवस्था में मंदी के संकेतों के बीच वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज एक और प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इसमें उन्होंने कई सरकारी बैंकों के आपस में विलय का ऐलान किया. वित्तमंत्री ने कहा कि यूनाइटेड बैंक और ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स का पंजाब नेशनल बैंक यानी पीएनबी में विलय होगा. दूसरी तरफ, केनरा बैंक और सिंडिकेट बैंक का भी आपस में विलय किया जाएगा. इसी तरह यूनियन बैंक, आंध्रा बैंक और कॉरपोरेशन बैंक भी एक होंगे. इसे अलावा इंडिय़न बैंक और इलाहाबाद बैंक का भी आपस में विलय होगा. केंद्र सरकार के इस ऐलान के साथ ही देश में सरकारी बैंकों की संख्या अब 18 से घटकर 12 रह जाएगी. निर्मला सीतारमण ने कहा कि उनकी सरकार देश में वित्तीय क्षेत्र के सुधार के लिए दृढ़संकल्प है.

भाजपा नेता स्वामी चिन्मयानंद पर आरोप लगाने के बाद लापता हुई छात्रा राजस्थान में मिली, सुप्रीम कोर्ट ने उसे अपने सामने पेश करने का निर्देश दिया

पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ उत्पीड़न के आरोप लगाने के बाद लापता हुई छात्रा राजस्थान में मिली है. उत्तर प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को ये जानकारी दी है. शीर्ष अदालत ने उसे निर्देश दिया था कि कानून की पढ़ाई कर रही इस छात्रा का पता लगाकर उसे अदालत में पेश किया जाए. पुलिस के मुताबिक शाहजहांपुर से लापता ये छात्रा अपने एक दोस्त के साथ एक होटल में रुकी हुई थी. इस छात्रा ने 24 जून को सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल करके चिन्मयानंद पर कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद करने का आरोप लगाया था. साथ ही उसने भाजपा नेता से खुद को और अपने परिवार को जान का खतरा बताया था. शीर्ष अदालत ने इस मामले का स्वत: संज्ञान लिया था. उधर, स्वामी चिन्मयानंद का दावा है कि छात्रा उन्हें पांच करोड़ रुपये के लिए ब्लैकमेल कर रही थी. उनके मुताबिक पैसा न मिलने पर छात्रा ने मीडिया में जाने की धमकी दी थी.

अंबाती रायडू वापस मैदान में आना चाहते हैं, कहा - संन्यास का फैसला जल्दबाजी में ले लिया

करीब दो महीने पहले संन्यास का ऐलान करने वाले भारत के पूर्व बल्लेबाज अंबाती रायडू मैदान पर लौटना चाहते हैं. उन्होंने हैदराबाद के लिए खेल के तीनों फॉर्मेट्स में खेलने की इच्छा जताई है. अंबाती रायडू ने क्रिकेट विश्व कप के लिए अपनी अनदेखी किये जाने के बाद संन्यास की घोषणा की थी. उन्हें इस आयोजन के लिए संभावित खिलाड़ियों की सूची में रखा गया था. लेकिन जब 15 सदस्यीय टीम इंडिया की घोषणा हुई तो चयनकर्ताओं ने ऑलराउंडर विजय शंकर को उन पर तरजीह दी थी. अब अंबाती रायडू का कहना है कि उन्होंने संन्यास का फैसला जल्दबाजी में ले लिया था. 33 साल के इस क्रिकेटर ने दिग्गज बल्लेबाज रहे वीवीएस लक्ष्मण का शुक्रिया अदा किया है. अंबाती रायडू के मुताबिक लक्ष्मण ने उन्हें अहसास दिलाया कि उनके भीतर अभी काफी क्रिकेट बचा हुआ है.

उत्तर कोरिया का बड़ा ऐलान, कहा- हथियारों का आधुनिकीकरण बंद नहीं करेंगे

उत्तर कोरिया ने साफ कह दिया है कि वो हथियारों का आधुनिकीकरण करना बंद नहीं करेगा. उसने ब्रिटेन, फ्रांस और जर्मनी पर आरोप लगाया है कि वे आत्मरक्षा के लिए हथियारों के आधुनिकीकरण की उसकी कोशिशों में दखल दे रहे हैं. उत्तर कोरिया ने कहा कि ऐसा सोचने से बड़ी और कोई गलती नहीं होगी कि वो हथियार रखने के अपने अधिकारों को छोड़ देगा. अमेरिका के तीनों महत्वपूर्ण यूरोपीय सहयोगी देशों ने मंगलवार को उत्तर कोरिया के बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षणों को लेकर उसकी निंदा की थी. उन्होंने उसे उकसावे की कार्रवाई बताया था. यूरोपीय देशों का आरोप है कि उत्तर कोरिया संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों का उल्लंघन कर रहा है. इस पर उत्तर कोरिया ने कहा है कि शांति सुनिश्चित करने के लिए हथियार जरूरी हैं.

देश और दुनिया की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें.