केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को सरकारी क्षेत्र के दस बैंकों का विलय करने की घोषणा की. इस खबर को आज के अधिकतर अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है. उन्होंने यह घोषणा शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान की. इस मौके पर निर्मला सीतारमण ने कहा, ‘बैंकिंग सेक्टर को मजबूत करने को लेकर सरकार पूरा ध्यान केंद्रित कर रही है. कर्ज बांटने में सुधार लाना हमारी प्राथमिकता है. ऐसे में गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) को समर्थन देने के लिए भी सरकार ने कई उपाय किए हैं.’

वहीं, आईएनएक्स मीडिया मामले में आरोपित कांग्रेस नेता पी चिदंबरम की सीबीआई हिरासत दो सितंबर तक के लिए बढ़ा दी गई है. यह खबर भी अखबारों की प्रमुख सुर्खियों में है. उधर, पी चिदंबरम की तरफ से हिरासत की अवधि को बढ़ाए जाने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में भी एक याचिका दाखिल की गई है. शीर्ष अदालत इस पर दो सितंबर को सुनवाई करेगी.

अमेरिका ने अंतरिक्ष कमान की स्थापना की

अमेरिका ने मिसाइलों की बढ़ती प्रतिस्पर्धा के बीच अंतरिक्ष कमान ‘स्पेसकॉम’ की स्थापना की है. इस कमान की स्थापना 11वीं एकीकृत लड़ाकू कमान के तौर पर की गई है. अमर उजाला की खबर के मुताबिक ट्रंप प्रशासन ने यह बड़ा कदम रूस और चीन से पैदा होने वाले संभावित खतरे को देखते हुए उठाया है. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इसे बड़ी पहल बताया. उन्होंने कहा, ‘अब जो भी अमेरिका का अहित करने की मंशा रखेगा या हमें अंतरिक्ष में चुनौती देने की कोशिश करेगा, उसे बड़ी कीमत चुकानी होगी.’ डोनाल्ड ट्रंप ने अंतरिक्ष को अगला युद्ध क्षेत्र बताया. साथ ही, उन्होंने कहा कि ‘स्पेसकॉम’ इस नए युद्ध क्षेत्र में अमेरिका के हितों की रक्षा करेगा.

चिन्मयानंद पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली छात्रा को सुप्रीम कोर्ट ने अपने संरक्षण में रखा

पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री और भाजपा नेता स्वामी चिन्मयानंद पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली छात्रा को सुप्रीम कोर्ट ने अपने संरक्षण में रखने का आदेश दिया है. हिन्दुस्तान में प्रकाशित खबर के मुताबिक छात्रा अगले चार दिन तक दिल्ली में रहेगी. इस दौरान शीर्ष अदालत की रजिस्ट्री उसकी रक्षा करेगी. शीर्ष अदालत ने इस मामले की अगली सुनवाई की तारीख दो सितंबर तय की है. इससे पहले छात्रा को राजस्थान से बरामद किया गया था. साथ ही, सुप्रीम कोर्ट में पेश किए जाने के बाद उसने अपने गृह राज्य उत्तर प्रदेश जाने से मना कर दिया था. साथ ही, छात्रा ने अपनी असुरक्षा को लेकर चिंता जाहिर की थी.

विकलांगों को रोजगार के मौके दया भाव से नहीं बल्कि, उनके अधिकार के तौर पर दिए जाने चाहिए : सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने विकलांगों के अधिकारों को लेकर बड़ी टिप्पणी की है. दैनिक जागरण की खबर के मुताबिक शीर्ष अदालत ने कहा है कि इस तरह के लोगों को रोजगार के मौके दया भाव से नहीं बल्कि, उनके अधिकार के तौर पर दिए जाने चाहिए. सुप्रीम कोर्ट ने यह टिप्पणी एक याचिका पर सुनवाई के दौरान की. इस याचिका की सुनवाई के बाद न्यायाधीश आर भानुमति की अध्यक्षता वाली पीठ ने राजस्थान हाई कोर्ट के आदेश को पलट दिया. साथ ही, उसने प्रशासनिक पक्ष को सिविल जज के पद के लिए आकांक्षी याचिकाकर्ता की उम्मीदवारी के लिए विचार करने का आदेश दिया. इससे पहले याचिकाकर्ता नेत्रहीन नीतू हर्ष ने आवेदन के वक्त खुद को अनारक्षित वर्ग में रखते हुए आवेदन किया था. हालांकि, परीक्षा के नतीजे में इस वर्ग की सूची में अपना नाम न आने पर उन्होंने विकलांग श्रेणी में अपनी उम्मीदवारी को लेकर विचार करने की अपील की थी.

जब तक अयोध्या में सीता जी की भी बराबर प्रतिमा नहीं बनाई जाती, इस महान देवी के साथ न्याय नहीं होगा : डॉ कर्ण सिंह

कांग्रेस नेता डॉ कर्ण सिंह ने अयोध्या में राम की विशाल प्रतिमा के साथ सीता की भी प्रतिमा बनाए जाने की पैरवी की है. राजस्थान पत्रिका की खबर के मुताबिक उन्होंने कहा, ‘जब तक यहां (अयोध्या) सीता जी की भी बराबर प्रतिमा नहीं बनाई जाती है, इस महान देवी के साथ न्याय नहीं होगा.’ इसके लिए डॉ कर्ण सिंह ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को सुझाव भी दिया है. उनका कहना है कि श्रीराम की एक बहुत बड़ी प्रतिमा बनाने की बजाय उसका आकार आधा कर दिया जाए. साथ ही, श्रीराम और सीता जी की बराबर प्रतिमाएं बनाई जाएं. वहीं, राज्य सभा के पूर्व सांसद ने आगे कहा कि हाल के समय में सीता जी को भुलाकर केवल श्रीराम पर ही ध्यान केंद्रित किए जाने का चलन दिख रहा है.

महाराष्ट्र : प्रधानमंत्री को ‘चोरों का सरदार’ कहने पर राहुल गांधी को समन जारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ एक टिप्पणी को लेकर मुंबई स्थित एक अदालत ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को समन जारी किया है. इसमें कांग्रेस नेता को तीन अक्टूबर को अदालत में पेश होने के लिए कहा गया है. नवभारत टाइम्स की खबर के मुताबिक अदालत ने यह कार्रवाई उनके खिलाफ एक मानहानि की शिकायत दर्ज होने की बाद की है. इससे पहले राहुल गांधी ने रफाल विमान सौदे में कथित घोटाले और इसमें प्रधानमंत्री की भूमिका को लेकर उन्हें ‘चोरों का सरदार’ बताया था.