अमेरिका में अब फर्जी सोशल मीडिया अकाउंट के जरिये विदेशी नागरिकों पर नजर रखी जाएगी. अमेरिकी नागरिक एवं आव्रजन सेवा (यूएससीआईएस) के अधिकारियों ने बताया कि सोशल मीडिया पर फर्जी अकाउंट बनाकर वीजा, ग्रीन कार्ड और नागरिकता हासिल करने के इच्छुक विदेशियों पर नजर रखी जा सकेगी. शुक्रवार को अमेरिका के गृह मंत्रालय ने गोपनीयता संबंधी संभावित मामलों की समीक्षा के लिए बैठक बुलाई थी. खबर के मुताबिक इसमें अधिकारियों पर फर्जी अकाउंट बनाने पर लगी रोक को हटा लिया गया है.

यूएससीआईएस की ओर से इस बारे में बयान जारी किया गया है. इसके मुताबिक अधिकारियों के फर्जी अकाउंट और पहचान बनाने से जांचकर्ताओं को फर्जीवाड़े के संभावित सबूत हासिल करने में आसानी होगी. साथ ही, यह तय करने में मदद मिलेगी कि कहीं किसी व्यक्ति को अमेरिका में प्रवेश देने से सुरक्षा को तो खतरा नहीं है. हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं है कि फर्जी सोशल अकाउंट बनाने की नीति फेसबुक एवं ट्विटर मंच पर कैसे काम करेगी, क्योंकि ये किसी दूसरे के नाम पर अकाउंट बनाने को अपनी शर्तों का उल्लंघन मानते हैं.

पीटीआई के मुताबिक अमेरिकी गृह मंत्रालय की नीति पर ट्विटर ने बयान जारी कर कहा, ‘फर्जी अकाउंट बनाकर लोगों की निगरानी करना हमारी नीति के खिलाफ है. हम यूएससीआईएस के प्रस्तावित कदम को समझने की कोशिश कर रहे हैं और पता लगा रहे हैं कि क्या वे हमारी शर्तों के अनुकूल हैं.’