फ्रेंच ऑटोमोबाइल कंपनी रेनो ने भारत में अपनी नई सबकॉम्पैक्ट मल्टीपरपज़ व्हीकल (व्हीकल) ‘ट्राइबर’ लॉन्च कर दी है. बाज़ार में इस कार की लंबे समय से प्रतीक्षा की जा रही थी. तमाम ख़ूबियों के अलावा किसी भारतीय ग्राहक को लुभाने के लिए ट्राइबर का सबसे आकर्षक पहलु इसकी कीमत है. रेनो ने अपनी इस नई पेशकश के लिए 4.95 लाख रुपए (एक्सशोरूम) से लेकर 6.49 लाख रुपए (एक्सशोरूम) कीमत तय की है. ट्राइबर की एक अन्य खासियत यह भी है कि यह 7-सीटर होने के बावजूद चार मीटर से कम लंबी है. इस तरह इस गाड़ी पर लगने वाले टैक्स की दरें तो कम हैं ही, साथ ही यह गाड़ी शहरों के हैवी ट्रैफिक के बीच चलाने में भी खासी सहूलियत देगी. ट्राइबर से पहले डैटसन रेडी गो+ और महिंद्रा टीयूवी-300 सब 4-मीटर/7-सीटर सेगमेंट में संतोषजनक प्रदर्शन करने में सफल रही हैं.

रेनो ने ट्राइबर को अपनी लोकप्रिय हैचबैक क्विड वाले ‘सीएमएफ-ए’ प्लेटफॉर्म पर ही तैयार किया है. हालांकि कंपनी का दावा है कि ट्राइबर के लिए उसने इस प्लेटफॉर्म को 90 फीसदी नए कंपोनेंट की मदद से अपग्रेड किया है. कंपनी ने ट्राइबर के चार वेरिएंट- आरएक्सई, आरएक्सएल, आरएक्सटी और आरएक्सज़ेड उतारे हैं. दिखने में ट्राइबर किसी एसयूवी जैसी ही फील देती है. इसके फ्रंट में लगी क्रोम ग्रिल रेनो की अन्य गाड़ियों में इस्तेमाल की गई वी-शेप ग्रिल से काफी अलग है. इनके अलावा ट्राइबर में कुछ रग्ड एलिमेंट दिए गए हैं जिनमें- साइड बॉडी क्लैडिंग और रूफ रेल्स शामिल हैं. इसके अलावा ट्राइबर के साथ अलॉय व्हील्स और फॉक्स स्किड प्लेट्स (घर्षण से बचाने के लिए कार के नीचे लगाई गई विशेष प्लेट) भी दी हैं.

इंटीरियर की बात करें तो ट्राइबर की थर्ड रो की दोनों सीटें ईज़ी फिक्स हैं. यानी ज़रूरत पड़ने पर इन सीटों को एक साथ या अलग-अलग हटाया जा सकता है. इस तरह ट्राइबर का बूट स्पेस लगेज के हिसाब से 84 लीटर (7-सीटर), 320 लीटर (6-सीटर) और 625 लीटर (5-सीटर) में बदला जा सकता है. ट्राइबर के केबिन में बेहद कम बटन और स्विच होने की वजह से खुलापन महसूस होता है. बेज-ग्रे कलर के डुअल टोन डैशबोर्ड के साथ ब्लैक-बैज़ डुअल टोन सीट अपहोल्स्ट्री क्रॉन्ट्रास्ट फील देती हैं. कार के सेकंड और थर्ड रो के साथ एयरकॉन वेंट्स दिए गए हैं. सबकॉम्पैक्ट एमपीवी होने के बावज़ूद किसी भी रो के पैसेंजर को जगह की कमी नहीं खलती. इसके अलावा सेकंड रो की सीटों को भी सवारियों के सहूलियत के हिसाब से एडजस्ट और रिक्लाइन किया जा सकता है.

फीचर्स के मामले में भी रेनो ने ट्राइबर में कोई कमी नहीं छोड़ी है. ट्राइबर के साथ क्लास लीडिंग 8-इंच का इंफोटेनमेंट सिस्टम मिलता है जो एपल कार प्ले और एंड्रॉइड ऑटो सपोर्टेबल है. इसके अलावा ट्राइबर के साथ पुश स्टार्ट बटन, फ्रंट में यूएसबी चार्जिंग, सेकंड और थर्ड रो पैसेजर के लिए 12वी चार्जर , रिवर्स कैमरा, कूल्ड ग्लव बॉक्स, क्लाइमेट कंट्रोल, सेपरेट एयरकॉन कंट्रोल और रियर पैसेंजर्स की-लैस एंट्री जैसी खूबियां भी मिलती हैं. कार के साथ दिए गए सुरक्षा फीचर्स में चार एयरबैग्स, तीनों रो की सीटों के लिए थ्री पॉइंट सीट बेल्ट, स्पीड अलर्ट सिस्टम, एंटीलॉक ब्रेकिंग सिस्टम (एबीएस), इलैक्ट्रॉनिक ब्रेकफोर्स डिस्ट्रिब्यूशन (ईबीडी), रियर पार्किंग सेंसर और सीटबेल्ट रिमाइंडर शामिल हैं.

परफॉर्मेंस के लिहाज से रेनो ने ट्राइबर के साथ क्विड वाला ही 1.0 लीटर, थ्री सिलेंडर इंजन दिया है जो 71 बीएचपी के साथ 96 एनएम का पीक टॉर्क पैदा करने में सक्षम है. कंपनी ने इस इंजन के साथ 5-स्पीड मैनुअल और ऑटोमेटिक दोनों ही गियरबॉक्स विकल्प के तौर पर दिए हैं. ट्राइबर के टॉप मॉडल के साथ 15-इंच और बाकी मॉडल्स के साथ 14-इंच के व्हील्स दिए जा रहे हैं. रेनो ट्राइबर सबकॉम्पैक्ट एमपीवी सेगमेंट की रेडी गो+ के साथ एमपीवी सेगमेंट की मारुति-सुज़ुकी अर्टिगा और महिंद्रा मराज़ो खरीदने वाले ग्राहकों को तो आकर्षित करेगी ही, अपनी प्राइस रेंज की वजह से यह मारुति-सुज़ुकी स्विफ्ट, ह्युंडई आई-10, मारुति-सुज़ुकी बलेनो और मारुति-सुज़ुकी आई-20 के ग्राहकों को भी अपनी तरफ़ लुभा सकती है.

टाटा हैरियर का डार्क एडिशन

फेस्टिव सीज़न से पहले टाटा मोटर्स ने अपनी एसयूवी हैरियर का ‘डार्क एडिशन’ लॉन्च कर दिया है. जैसा कि नाम से पता चलता है इस स्पेशल एडिशन हैरियर को पूरी तरह ब्लैक थीम पर तैयार किया गया है. इस तरह नई हैरियर में ब्लैक एक्सटीरियर एलीमेंट्स के साथ ऑल ब्लैक इंटीरियर नज़र आता है. टाटा मोटर्स ने हैरियर को इसी साल जनवरी में लॉन्च किया था. फिर इसी जुलाई में उसने हैरियर का डुअल टोन वर्ज़न भी पेश किया. इस तरह अब हैरियर- ब्लैक, डुअल टोन- ऑरकस व्हाइट व कैलिस्टो कॉपर कलर्स के साथ ब्लैक रूफटॉप और पांच मोनो टोन कलर- एरियल सिल्वर, थर्मिस्टो गोल्ड, कैलिस्टो कॉपर, ऑरकस व्हाइट और टेलेस्टो ग्रे में उपलब्ध हैं. टाटा मोटर्स ने डुअल टोन की तरह ब्लैक थीम को भी हैरियर के टॉप एंड वेरिएंट एक्सज़ेड के साथ ही पेश किया है.

कंपनी का दावा है कि उसने नई हैरियर के साथ डिज़ाइन के मामले में 14 अपग्रेड किए हैं ताकि यह कार पहले से ज्यादा प्रीमियम दिखे. इन बदलावों में प्रमुख 17- इंच के ब्लैकस्टोन अलॉय व्हील्स और उनसे मैच करती हुई इंटीरियर की ब्लैकस्टोन कलर थीम प्रमुखता से नज़र आती हैं. हैरियर के इस नए वर्ज़न के लिए 16.76 लाख रुपए (एक्सशोरूम) कीमत तय की गई है. स्पेसिफिकेशंस की बात करें तो फिलहाल इस कार के साथ 2.0 लीटर क्षमता का क्रायोटेक डीज़ल इंजन मिलता है. लेकिन संभावना है कि जल्द ही इस कार को बीएस-VI मानक पर खरे उतरने वाले बिल्कुल नए इंजन से लैस किया जाएगा जो कि मौजूदा मॉडल से ज्यादा दमदार होगा. जानकारी यह भी है कि एमजी हेक्टर को एक और मोर्चे पर टक्कर देने के लिए टाटा मोटर्स हैरियर के 7-सीट वर्ज़न को भी लॉन्च करने का मन बना रही है. कंपनी ने इस कार को ‘बज़र्ड’ नाम से जेनेवा मोटर शो-2019 में पेश किया था. कयास हैं कि टाटा मोटर्स अगले साल तक इस कार को बाज़ार में उतार सकती है.

हीरो का इलेक्ट्रिक स्कूटर ‘डैश’

हीरो मोटर्स ने भारत में नया इलेक्ट्रिक स्कूटर ‘डैश’ लॉन्च कर दिया है. कंपनी ने 110 सीसी क्षमता के इस स्कूटर को कॉन्सेप्ट के तौर पर सबसे पहले 2014 में पहली बार शोकेस किया था जो कंपनी के ही लोकप्रिय स्कूटर माइस्ट्रो एज पर आधारित था. लेकिन लॉन्च के बाद डैश उस कॉन्सेप्ट स्कूटर से अलग नज़र आता है. कंपनी ने डैश की एक्सशोरूम कीमत 62,000 रुपए कीमत तय की है. लुक्स के लिहाज़ से हीरो ने डैश के साथ ट्विन हैडलैंप्स, एंगुलर बॉडी पेनल्स और कॉन्ट्रास्ट डुअल-टोन पेन्ट स्कीम दी है. इनके अलावा ब्लैक अलॉय व्हील्स और ब्लैक ग्रैब रेल्स इस स्कूटर की ख़ूबसूरती में इज़ाफा करते हैं.

डैश बीच में

डैश की ख़ूबियों की बात करें तो इनमें एलईडी हैडलैंप्स के साथ डेटाइम रनिंग लाइट्स (डीआरएल), डिजिटल इंस्ट्रुमेंट कंसोल, यूएसबी चार्जिंग पॉइंट, ट्यूबलेस टायर्स और रिमोट बूट ओपनिंग जैसे फीचर्स दिए गए हैं. परफॉर्मेंस के मामले में डैश के साथ 48 वोल्ट 28 एएच लीथियम-आयन बैटरी लगाई गई है जो सिंगल चार्ज में 60 किमी चलाई जा सकती है. फास्ट चार्जर की मदद से यह बैटरी चार घंटे में फुल चार्ज होती है और इसकी टॉप स्पीड 25 किमी/घंटा है. डैश का ग्राउंड क्लियरेंस 145 एमएम है जिसकी वजह से ऊबड़-खाबड़ सड़कों पर इसे चलाना अखरता नहीं है. डैश तीन साल की वॉरंटी के साथ आता है.

देश की पहली ई-मोटरसाइकलें

भारतीय कंपनी रिवोल्ट इंटेलीकॉर्प ने अपनी पहली इलेक्ट्रिक मोटरसाइकलें आरवी-300 और आरवी-400 लॉन्च कर दी हैं. कंपनी का दावा है कि ये न सिर्फ़ देश की पहली इलेक्ट्रिक बल्कि आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस वाली बाइकें भी हैं. अपनी दोनों बाइकों को स्मार्ट बनाने के लिए कंपनी ने रिवोल्ट मोबाइल फोन एप डेवलप किया है. यह एप रियल टाइम रेंज डिस्प्ले और बाइक से जुड़ी संभावित तकनीकी परेशानियों के बारे में पहले ही आगाह कर देता है. साथ ही इस एप की मदद से बाइक को ट्रैक करने के साथ ट्रिप्स को भी रिकॉर्ड किया जा सकता है. बाइकों के साथ आने वाले एडिशनल एसेसरीज की बात करें तो वह कनेक्टेड हेलमेट है जिसकी मदद से ‘रिवोल्ट स्टार्ट’ वॉइस कमांड देकर गाड़ी को स्टार्ट किया जा सकता है. इस हेलमेट को गूगल के साथ मिलकर तैयार किया गया है.

अपनी इन खास बाइकों के लिए कंपनी ने खास पेमेंट प्लान तैयार किए हैं. यदि आप इन बाइकों को घर लाना चाहते हैं तो आपको 37 महीने तक आरवी-300 के लिए 2,999 रुपए प्रतिमाह, आरवी-400 बेस मॉडल के लिए 3,499 रुपए प्रतिमाह और आरवी-400 टॉप मॉडल के लिए 3,999 रुपए प्रतिमाह चुकाने होंगे. परफॉर्मेंस के लिहाज से बात करें तो इन बाइकों की रिमूवेबल बैटरी को घर या दफ़्तर में कहीं भी आसानी से चार्ज किया जा सकता है. जानकारी के अनुसार एक बार फुल चार्ज होने में ये बैटरी करीब चार घंटे का समय लेती है और उसके बाद बाइक 156 किलोमीटर तक की दूरी तय कर सकती है. ये बाइकें 85 किलोमीटर/घंटा अधिकतम रफ़्तार पर चलने में सक्षम हैं. संभावना है कि ये परफॉर्मेंस पसंद युवाओं को कम पसंद आएं, लेकिन नौकरीपेशा लोगों को ये खूब आकर्षित कर सकती हैं.