पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अर्थव्यवस्था में जारी मंदी के लिए नोटबंदी और जीएसटी जैसे मोदी सरकार के फैसलों को जिम्मेदार बताया है. उन्होंने इसे मानवजनित आपदा बताया. मनमोहन सिंह ने सरकार से अपील की है कि वह प्रतिशोध की राजनीति छोड़कर देश को इस संकट से निकालने के लिए सभी काबिल लोगों की आवाज सुने. इस खबर को आज के ज्यादातर अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है.

इसके अलावा राजीव गांधी सरकार में मंत्री रहे आरिफ मोहम्मद खान को केरल का राज्यपाल बनाए जाने की पहली खबर को भी कई अखबारों ने प्रमुखता से छापा है. 1984 में शाहबानो केस में जब राजीव गांधी की सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को संसद द्वारा कानून बनाकर पलट दिया था तो इसके विरोध में आरिफ मोहम्मद खान ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. काफी समय तक सक्रिय राजनीति से दूर रहने के बाद वे भाजपा में शामिल हो गए.

आरएसएस प्रमुख और जमीयत मुखिया की मुलाकात, सांप्रदायिक सद्भाव के लिए मिलकर काम करने की बात

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत और मुस्लिमों के प्रमुख संगठन जमीयत उलेमा-ए-हिंद के मुखिया सैयद अरशद मदनी ने रविवार को आपस में मुलाकात की. सूत्रों के हवाले से द टाइम्स ऑफ इंडिया ने खबर दी है कि दिल्ली में हुई करीब डेढ़ घंटे के इस मुलाकात में दोनों ने सांप्रदायिक सद्भाव के लिए मिलकर काम करने की बात कही. मोहन भागवत और अरशद मदनी भविष्य में इस तरह की और मुलाकातों के लिए भी सहमत हुए. जमीयत प्रमुख को इस बातचीत का न्योता दो महीने पहले तब मिला था जब वे विज्ञान भवन में संघ के एक कार्यक्रम में शामिल हुए थे.

कश्मीर का मुद्दा मालदीव में भी उठा

जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म किए जाने का मुद्दा मालदीव की राजधानी माले में आयोजित चौथे साउथ एशियन स्पीकर्स समिट में भी उठा. भारत की ओर से राज्यसभा के उप सभापति हरिवंश नारायण सिंह और लोकसभा के अध्यक्ष ओम बिरला जबकि पाकिस्तान की ओर से सीनेटर क़ुर्तुलऐन मर्री और नेशनल असेम्बली के डिप्टी स्पीकर कासिम सूरी इस आयोजन में मौजूद थे. द ट्रिब्यून के मुताबिक कासिम सूरी ने कहा कि कश्मीरियों पर हो रहे अत्याचार की अनदेखी नहीं की जा सकती. इस पर फौरन कड़ी आपत्ति जताते हुए हरिवंश सिंह ने कहा, ‘हम यहां भारत के आंतरिक मुद्दे को उठाए जाने पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराते हैं. हम इस मंच का राजनीतिकरण करने की कोशिश को भी खारिज करते हैं. उन्होंने पाकिस्तान को बांग्लादेश के लोगों पर उसके अत्याचारों की याद भी दिलाई.

आज कुलभूषण जाधव को राजनयिक पहुंच मिलेगी

आज पाकिस्तान भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान सोमवार को राजनयिक पहुंच यानी कॉन्‍स्‍यूलर एक्‍सेस देगा. हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने कहा कि जाधव को राजनयिक संबंधों पर वियना संधि, अंतरराष्ट्रीय न्याय अदालत के फैसले और पाकिस्तान के कानूनों के अनुरूप राजनयिक पहुंच उपलब्ध कराई जा रही है. अब तक भारत की तरफ से पाकिस्तान सरकार के प्रस्ताव का कोई जवाब नहीं दिया गया है. 2017 में पाकिस्तान की एक सैन्य अदालत द्वारा फांसी की सजा सुनाए जाने के बाद यह पहली बार है जब कुलभूषण जाधव को राजनयिक पहुंच दी जाएगी.

बैंकों के विलय से किसी की नौकरी नहीं जाएगी : निर्मला सीतारमण

दो दिन पहले 10 सरकारी बैंकों का विलय कर चार बैंक बनाने के सरकार के एलान से पसरी आशंकाओं को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सिरे से खारिज किया है. दैनिक जागरण के मुताबिक उन्होंने स्पष्ट किया कि विलय के इस कदम से ना कोई बैंक बंद होगा, ना ही किसी की नौकरी जाएगी. वित्त मंत्री ने कहा, ‘यह पूरी तरह से गलत सूचना है. बैंकों के विलय की बात करते हुए मैंने स्पष्ट रूप से कहा है कि कोई कर्मचारी हटाया नहीं जाएगा. एक भी नहीं.’ शुक्रवार को सरकार ने 10 सरकारी बैंकों को मिलाकर चार बड़े बैंक बनाने का एलान किया था.

डोरियन का खतरा

अमेरिका के फ्लोरिडा की ओर बढ़ रहा ‘डोरियन तूफान और मजबूत होता जा रहा है. डॉन की एक रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका के राष्ट्रीय तूफान केंद्र ने इसे सबसे खतरनाक श्रेणी यानी कैटेगरी 5 में रखा है. बताया जा रहा है कि यह इस इलाके में आया आधुनिक समय का सबसे भयंकर तूफान है. इसके चलते फ्लोरिडा में कई इलाकों को खाली करा लिया गया है. अमेरिका में चक्रवाती तूफानों से हर साल काफी नुकसान होता है.