भारत के वरिष्ठ राजनयिक ने कुलभूषण जाधव से मुलाकात की

भारत के एक वरिष्ठ राजनयिक ने आज पाकिस्तानी जेल में बंद कुलभूषण जाधव से मुलाकात की. अंतरराष्ट्रीय अदालत ने हाल में पाकिस्तान को निर्देश दिया था कि वो भारतीय नागरिक जाधव को राजनयिक पहुंच की अनुमति दे. 49 वर्षीय कुलभूषण जाधव को ‘जासूसी और आतंकवाद के जुर्म’ में पाकिस्तानी सैन्य अदालत ने अप्रैल, 2017 में मौत की सजा सुनाई थी. उसके बाद भारत ने अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में यह मामला उठाया था और उनकी मौत की सजा पर रोक लगाने की मांग की थी. न्यायालय ने 17 जुलाई को पाकिस्तान से कहा था कि वो कुलभूषण जाधव को सुनाई गयी फांसी की सजा पर फिर से विचार करे. पाकिस्तान का दावा है कि उसके सुरक्षा बलों ने कुलभूषण जाधव को 2016 में बलूचिस्तान प्रांत से गिरफ्तार किया था. हालांकि, भारत का कहना है कि उनको ईरान से अगवा किया गया था जहां वे नौसेना से रिटायर होने के बाद कारोबार के सिलसिले में गए थे

पी चिदंबरम तिहाड़ जाने से बचे, सीबीआई हिरासत फिर बढ़ी

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की सीबीआई हिरासत फिर तीन दिन के लिए बढ़ा दी गई है. उन्हें जांच एजेंसी ने बीती 21 अगस्त को गिरफ्तार किया था. इससे पहले पी चिदंबरम ने अदालत से अनुरोध किया था कि वे 74 साल के हैं और उन्हें दिल्ली की तिहाड़ जेल भेजने के बजाय घर पर नजरबंद रखा जाना चाहिए. हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने उनकी इस दलील को ठुकरा दिया. उसका कहना था कि इस तरह की हिरासत में सिर्फ राजनीतिक बंदियों को रखा जाता है. सीबीआई हिरासत बढ़ाते हुए उसने ये भी कहा कि पी चिदंबरम को किसी भी राहत के लिए संबंधित अदालत के पास जाना चाहिए.

पी चिदंबरम की यह गिरफ्तारी आईएनएक्स मीडिया मामले में हुई है. आरोप है कि 2006 में विदेशी निवेश के लिए आईएनएक्स मीडिया समूह को मंजूरी देने में गड़बड़ी की गई. तब पी चिदंबरम ही वित्त मंत्री थे. इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी भी पी चिदंबरम की हिरासत की मांग कर रहा है. सुप्रीम कोर्ट ने उसकी अपील पर फैसला पांच सितंबर के लिए सुरक्षित रख लिया है.

एनआरसी पर विदेश मंत्रालय का अहम बयान, कहा - अंतिम सूची से बाहर रह गए लोग राष्ट्रविहीन नहीं

विदेश मंत्रालय ने कहा है कि असम में राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर यानी एनआरसी की अंतिम सूची से बाहर रह गए लोग ‘राष्ट्रविहीन नहीं हैं’. उसने कहा है कि ये लोग सभी वैधानिक विकल्प खत्म होने तक अपने सभी अधिकारों का इस्तेमाल कर सकते हैं. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ये बात कही. उनका ये भी कहना था कि जिन लोगों के नाम अंतिम सूची में नहीं हैं, उन्हें हिरासत में नहीं लिया जाएगा. इस सूची में शामिल होने के लिए असम के 3.3 करोड़ लोगों ने आवेदन दिए थे. शनिवार को सामने आई आखिरी सूची से 19 लाख लोगों को बाहर कर दिया गया है.

चंद्रयान 2 से विक्रम और प्रज्ञान अलग हुए, अब सबकी नजरें सात सितंबर पर

चंद्रयान-2 मिशन अब अपने सबसे अहम हिस्से में पहुंच गया है. आज ऑर्बिटर से लैंडर विक्रम और रोवर प्रज्ञान को सफलतापूर्वक अलग कर दिया गया. विक्रम अब सात सितंबर को चांद के दक्षिणी ध्रुव क्षेत्र में ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ करेगा. इसका नाम भारत के अंतरिक्ष मिशन के जनक विक्रम साराभाई के नाम पर रखा गया है. लैंडर के चांद की सतह पर उतरने के बाद इसके भीतर से ‘प्रज्ञान’ नाम का रोवर बाहर निकलेगा. छह पहियों वाला ये रोवर चांद की सतह पर वैज्ञानिक प्रयोगों को अंजाम देगा और इससे जुड़ी जानकारियां धरती तक भेजेगा. अगर सब कुछ ठीक रहा तो अमेरिका, रूस और चीन के बाद भारत चांद पर ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ करने वाला दुनिया का चौथा देश बन जाएगा. इसके साथ ही वो चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव क्षेत्र में उतरने वाला दुनिया का पहला देश बनने की उपलब्धि भी अपने नाम करेगा.

हांगकांग में उथल-पुथल जारी, प्रदर्शनकारियों ने कई जगहों पर ट्रेनें रोकीं

हांगकांग में तीन महीने से चल रहे सरकार विरोधी प्रदर्शनों का सिलसिला जारी है. लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों ने आज सुबह रेलगाड़ियों को निशाना बनाया. बड़ी संख्या में काले कपड़े पहने लोग रेलगाड़ियों के दरवाजों पर खड़े हो गए और उन्हें बंद होने से रोका. हांगकांग की भूमिगत रेल प्रणाली में कई जगह इस तरह का विरोध प्रदर्शन देखने को मिला. इसके चलते रेल सेवाएं व्यापक पैमाने पर प्रभावित हुईं. हाल में हुए इसी रह के प्रदर्शनों के चलते हांगकांग के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से सारी उड़ानें रद्द करनी पड़ी थीं. उधर, चीन कई बार इन प्रदर्शनकारियों को चेता चुका है. उसका कहना है कि प्रदर्शनकारी जो कर रहे हैं वह आतंकवाद जैसा ही है जिससे वो सख्ती से निपटेगा.

देश और दुनिया की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें.