कर्नाटक में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डीके शिवकुमार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किया है. एएनआई की खबर के मुताबिक ईडी ने कांग्रेस नेता पर धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) का उल्लंघन करते हुए हवाला लेनदेन में शामिल होने का आरोप लगाया है.

ईडी ने बीते हफ्ते डीके शिवकुमार से कई बार पूछताछ की थी. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कांग्रेस नेता द्वारा जांच में सहयोग नहीं करने पर मंगलवार को उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया. कांग्रेस नेता को बुधवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा. बीते हफ्ते डीके शिवकुमार ने कर्नाटक हाइकोर्ट से अतंरिम राहत के लिए याचिका भी दाखिल की थी, लेकिन उन्हें कोई राहत नहीं मिल सकी थी.

डीके शिवकुमार के खिलाफ ये मामले 2017 में सामने आए थे, जब आयकर विभाग ने उनके करीब 60 ठिकानों पर छापेमारी की थी. इस दौरान उनके पास करीब 11 करोड़ रुपये कैश मिला था और करोड़ों की संपत्ति के बारे में पता चला था. इसके बाद ईडी ने उनके खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मुकदमा दर्ज किया था. जांच के दौरान जांच एजेंसी को ये भी पता चला था कि डीके शिवकुमार के इशारों पर उनके कुछ करीबी, दिल्ली के चांदनी चौक से कैश बैग में भरकर बताए गए पते पर पहुचाने का काम भी कर रहे थे, यानी उनके तार हवाला से भी जुड़े थे. ये भी बात सामने आई थी डीके शिवकुमार ने करोड़ों रुपये की टैक्स चोरी की है.

हालांकि, डीके शिवकुमार ने सरकारी एजेंसियों की इस कार्रवाई को अपने खिलाफ राजनीतिक साजिश बताया था. उनका कहना था कि उन्हें इसलिये फंसाया गया क्योंकि उन्होंने गुजरात में राज्यसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस के विधायकों को अपने रिसॉर्ट में रुकवाया था.