प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि उनकी सरकार नये भारत का निर्माण करने पर काम कर रही है और वह 2024 तक देश को 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने को लेकर प्रतिबद्ध है. उन्होंने गुरूवार को रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की मेजबानी में आयोजित पूर्वी आर्थिक मंच की एक बैठक में यह बात कही.

पीटीआई के मुताबिक पांचवें पूर्वी आर्थिक मंच (ईईएफ) की बैठक को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि उनकी सरकार सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास के मंत्र के साथ ‘न्यू इंडिया’ के निर्माण में काम कर रही है. भारत सरकार 2024 तक देश को 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने को लेकर प्रतिबद्ध है. प्रधानमंत्री ने इस लक्ष्य को हासिल करने के लिये उठाये जा रहे कुछ कदमों के बारे में भी जानकारी दी.

व्लादिमीर पुतिन की मौजूदगी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘एक्ट फार ईस्ट’ की नीति का भी खुलासा किया. इसके तहत भारत रूस के सुदूर पूर्वी क्षेत्र में औद्योगिक विकास से जुड़ी गतिविधियों को बढ़ावा देगा. नरेंद्र मोदी ने रूस के इस क्षेत्र के विकास के लिये एक अरब डॉलर का कर्ज देने की घोषणा भी की.

इस मौके पर रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन ने कहा कि भारत और रूस एक संयुक्त जलपोत निर्माण उद्यम शुरू करने की संभावनायें तलाश रहे हैं. उनका कहना था, ‘कल हमने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बातचीत की. हम एक संयुक्त उद्यम शुरू करने की संभावनाओं को देख रहे हैं. हो सकता है कुछ जलपोत हमारे द्वारा बनाये जायें.’