‘प्लास्टिक की बोतलें और गिलास छोड़ो, चुल्लू बनाकर पानी पियो.’  

— मीनाक्षी लेखी, भाजपा सांसद

भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने यह सुझाव प्लास्टिक का इस्तेमाल कम करने के लिए दिया है. उन्होंने दांतों को साफ करने के लिए नीम की टहनी का इस्तेमाल करने की पुरानी भारतीय आदतों की ओर लौटने का भी सुझाव दिया. मीनाक्षी लेखी ने कहा कि भारत ने ऐसी चीजों को अपनाकर काफी ऊर्जा और संसाधन बर्बाद किए हैं जो उसकी परंपरा का हिस्सा नहीं हैं.

‘यह अभियान श्रेष्ठ भारतीय प्रतिभा और तपस्या की भावना को परिलक्षित करता है.’   

— नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री ने यह बात चंद्रयान-2 मिशन के तहत विक्रम लैंडर के चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतरने से पहले कही. नरेंद्र मोदी ने कहा कि इसकी सफलता से करोड़ों भारतीयों को लाभ होगा. भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के इतिहास के इस अभूतपूर्व क्षण का गवाह बनने के लिये प्रधानमंत्री बेंगलुरु स्थित इसरो के केंद्र में मौजूद रहेंगे.


‘जेएनयू के नए प्रशासन को शिक्षा के बारे में कोई समझ नहीं.’

— शशि थरूर, कांग्रेस नेता

शशि थरूर की यह प्रतिक्रिया जानी-मानी इतिहासकार रोमिला थापर को जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय द्वारा एक पत्र भेजे जाने से जुड़े विवाद पर आई है. इस पत्र में उन्हें अपना सीवी भेजने के लिए कहा गया था. शशि थरूर ने कहा कि विश्वविद्यालय लोगों को प्रोफेसर एमिरट्स का दर्जा देते हैं ताकि वे खुद का सम्मान कर सकें.


‘अगर हमला हुआ तो भारत मुंहतोड़ जवाब देगा.’  

— वेंकैया नायडू, उपराष्ट्रपति

पाकिस्तान की तरफ इशारा करती उपराष्ट्रपति की यह टिप्पणी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के चुने हुए भाषणों के संकलन के विमोचन के अवसर पर आई. उन्होंने कहा, ‘आपने हाल में देखा होगा कि गंभीर रूप से उकसाये जाने के बावजूद हम कुछ नहीं कर रहे हैं. लेकिन कोई आप पर हमला करता है, तब हम उसे ऐसा जवाब देंगे जिसे वह शेष जीवन में नहीं भूल पायेगा.’


‘वाहन कंपनियां जीएसटी में कटौती का मुद्दा राज्यों के वित्त मंत्रियों के सामने भी उठायें.’  

— अनुराग ठाकुर, वित्त राज्य मंत्री

अनुराग ठाकुर ने यह बात जीएसटी दर में कटौती की वाहन उद्योग की मांग के मद्देनजर कही है. उन्होंने कारोबारियों को केंद्र की तरफ से हरसंभव सहायता का आश्वासन भी दिया. इससे पहले केंद्रीय सड़क और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा था कि वाहनों पर जीएसटी कम किया जाएगा. यह उद्योग दो दशक की सबसे बड़ी मंदी का सामना कर रहा है.