दिल्ली के चांदनी चौक विधानसभा क्षेत्र से विधायक अलका लांबा ने आम आदमी पार्टी (आप) से इस्तीफा देने के बाद कांग्रेस का दामन थामने का फैसला किया है. अलका लांबा ने कहा कि वह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के नेतृत्व में पार्टी की प्राथमिक सदस्यता ग्रहण करेंगी.

अलका लांबा ने शुक्रवार को सुबह आप से इस्तीफा देने की घोषणा करते हुये ट्वीट कर कहा था, ‘आप को अलविदा कहने और आप की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने का समय आ गया है. मेरे लिए पिछले छह साल का सफ़र बड़े सबक सिखाने वाला रहा. सभी का शुक्रिया.’ इसके कुछ समय बाद ही अलका लांबा ने आम आदमी पार्टी नेतृत्व को ट्विटर पर ही अपना इस्तीफा स्वीकार करने की चुनौती दी थी. उन्होंने आरोप लगाया कि अब आम आदमी पार्टी से ‘खास आदमी पार्टी’ बन गई है.

पिछले मंगलवार को अलका लांबा की सोनिया गांधी से मुलाकात हो चुकी है. इसके बाद से ही उनके कांग्रेस में शामिल होने के कयास लगाये जाने लगे थे. अलका लांबा पिछले कुछ समय से आप नेतृत्व खासकर पार्टी के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की कार्यशैली से नाराज़ चल रही थीं.अलका लांबा ने अपना राजनीतिक सफर कांग्रेस से ही शुरू किया था. बाद में वे आप में शामिल हो गईं थीं.