राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने कहा है कि अनुच्छेद 370 खत्म करने के फैसले पर जम्मू-कश्मीर के आम लोग सरकार के साथ हैं. उन्होंने दावा किया कि यह फैसला आने वाले वक्त में प्रदेश नए अवसर लेकर आएगा. अजीत डोभाल ने कहा कि अनुच्छेद 370 कश्मीर के लिए स्पेशल स्टेटस नहीं, स्पेशल भेदभाव था. उनके मुताबिक शिक्षा का अधिकार जैसे 106 कानून अनुच्छेद 370 की वजह से जम्मू कश्मीर में लागू नहीं थे.

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने पाकिस्तान पर जम्मू-कश्मीर में हालात खराब करने की कोशिशों का आरोप भी लगाया. अजीत डोभाल का कहना था कि पड़ोसी देश के पास सिर्फ आतंकवाद ही हथियार है जिसे कामयाब नहीं होने दिया जाएगा. पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए अजीत डोभाल ने कहा कि उसके मंसूबे कामयाब नहीं होंगे क्योंकि कश्मीर में पूरी तरह से शांति है.

अजीत डोभाल ने सीमा पार आतंकियों के सक्रिय होने की पुष्टि भी की. उनका कहना था, ‘सीमा से 20 किमी की दूरी पर पाकिस्तान के कम्युनिकेशन टावर हैं. हमने उनकी बातचीत सुनी है जिसमें वे कह रहे हैं कि तुम लोग क्या कर रहे हो? वहां (कश्मीर में) इतने सारे सेब से भरे ट्रक कैसे चल रहे हैं? तुम लोग उन्हें बंद नहीं कर सकते. तुम्हारे लिए क्या अब चूड़ियां भिजवा दें?’